हेल्थ टिप्स : खाने की 10 चीजें जो खून को जहरीला बनाती हैं, जिससे दिल की बीमारी बढ़ती है

0 79
Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
आपको जानकर हैरानी होगी कि रोजाना कई ऐसी चीजें खाई जाती हैं जो खून में गंदगी फैलाती हैं। यह गंदगी वसा से लेकर हानिकारक पदार्थों तक हो सकती है। एक गतिहीन जीवन शैली खाने और अक्सर खाने से कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप, निम्न रक्त परिसंचरण (कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप, रक्त परिसंचरण) या खाद्य कारण रक्त विषाक्तता जैसी समस्याएं हो सकती हैं। जानें कि रक्त को क्या विषाक्त बनाता है
1. अत्यधिक मीठायदि आप मिठाई पसंद करते हैं, तो आप रक्त में विषाक्त पदार्थों को घोलने के लिए जिम्मेदार हैं। मिठाई मधुमेह और मोटापे का कारण बन सकती है, और वे आपके रक्त को नुकसान पहुंचा सकती हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि नमकीन खाने से ज्यादा मीठा ब्लड प्रेशर बढ़ाता है।

2. खारट पदार्थ (Salty Foods)
नमकीन खाद्य पदार्थों में सोडियम अधिक होता है, इसलिए बीपी अधिक होता है और कोलेस्ट्रॉल अधिक होता है। प्रोसेस्ड और फास्ट फूड में आमतौर पर सोडियम का स्तर अधिक होता है। खून को शुद्ध रखने के लिए पिज्जा-बर्गर खाना तुरंत बंद कर दें।

3. रेड मीट का सेवन
रेड मीट उच्च कोलेस्ट्रॉल और उच्च रक्तचाप (उच्च कोलेस्ट्रॉल और उच्च रक्तचाप) के साथ-साथ चयापचय विकार का कारण है। शरीर में रेड मीट के चयापचय से ऐसे यौगिक भी निकलते हैं जो रक्तचाप को बढ़ाते हैं। ध्यान रखें कि मांस जितना लाल होगा, रक्तचाप बढ़ने की संभावना उतनी ही अधिक होगी।

4. प्रोसेस्ड और पैकेज्ड फूड
डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ सोडियम में उच्च होते हैं और गुर्दे के लिए हानिकारक होते हैं। रक्त में अतिरिक्त सोडियम गुर्दे की निस्पंदन शक्ति को कम कर देता है। साथ ही ब्लड प्रेशर भी बढ़ जाता है।

5. चीनी पेय और सोडा
समय-समय पर शक्करयुक्त पेय पीना ठीक है लेकिन हर समय शक्करयुक्त पेय पीने से रक्तचाप बढ़ सकता है। इन चीजों का सीधा असर खून पर पड़ता है। इसके अलावा, कई पेय में कैफीन होता है, जो रक्तचाप बढ़ा सकता है।

इन चीजों से रहें दूर
ऊपर बताई गई बातों के अलावा और भी कई पदार्थ हैं जो रक्त के स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं।
यदि आप रक्त संबंधी विकारों से बचना चाहते हैं, तो आपको शराब, संतृप्त वसा, कैफीन,
सोया सॉस, कैच-अप आदि जैसे सोडियम से भरपूर मसालों से बचें।

(अस्वीकरण : हम इस लेख में निर्धारित किसी भी कानून, प्रक्रिया और दावों का समर्थन नहीं करते हैं।
उन्हें केवल सलाह के रूप में लिया जाना चाहिए। ऐसे किसी भी उपचार/दवा/आहार को लागू करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है।)

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Ads
Ads
Leave A Reply

Your email address will not be published.