पीलिया घरेलू उपचार | लीवर खराब होने से हो सकता है पीलिया, जानिए

0 219
Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

[ad_1]

आरोग्यनाम ऑनलाइन टीम – पीलिया घरेलू उपचार | पीलिया एक ऐसी बीमारी है जो त्वचा, आंखों और नाखूनों के पीलेपन का कारण बनती है। यह रोग दूषित जल के कारण होता है। पीलिया से कमजोरी और शरीर में कई तरह के बदलाव (पीलिया घरेलू उपचार) होते हैं। पीलिया या पीलिया लीवर को प्रभावित करता है।

लीवर कमजोर हो तो पीलिया होने का खतरा बढ़ जाता है। पीलिया रक्त में बिलीरुबिन के स्तर में वृद्धि के कारण होता है। बिलीरुबिन लाल रक्त कोशिकाओं के टूटने से बनता है।

रक्त में 1% बिलीरुबिन होता है, लेकिन यदि यह 2.5% से अधिक हो तो पीलिया हो जाता है। यह बीमारी किसी भी उम्र के लोगों को प्रभावित कर सकती है। इस रोग के कारण त्वचा, नाखून और पेशाब का रंग पीला पड़ जाता है।

यह पीला रंग बिलीरुबिन के बढ़े हुए स्तर के कारण होता है, जो एक पीला-नारंगी पित्त वर्णक है। यह पित्त लीवर द्वारा जारी किया जाता है।

पीलिया के लक्षणों को पहचानना और उनका तुरंत इलाज करना जरूरी है। अगर आपको पीलिया या हेपेटाइटिस ए है तो आपको पानी पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। आइए जानें कि पीलिया के लक्षण क्या हैं और इसका इलाज कैसे करें (पीलिया घरेलू उपचार)।

पीलिया के लक्षण:

1. शरीर की कमजोरी

2. पीला मूत्र

3. आंखों के सफेद भाग का पीला पड़ना

4. नाखून पीले हो जाते हैं

5. सिरदर्द

6. बुखार

7. मतली

8. भूख में कमी

9. थकान

10. कब्ज

अगर शरीर में ऐसे लक्षण दिखाई दें तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।

पीलिया के घरेलू उपचार

1. धनिया खाएं:
अगर आप पीलिया को कंट्रोल करना चाहते हैं तो किचन में धनिया का सेवन करें। धनिया एक ऐसा मसाला है जो पीलिया को नियंत्रित कर सकता है। धनिया को पानी में भिगोकर खा लें।

रात को एक गिलास पानी में एक चम्मच धनिया मिलाकर सुबह सेवन करने से लाभ होता है।

2. गन्ने का रस पिएं:
गन्ने का रस सभी के लिए फायदेमंद होता है। जिन लोगों को पीलिया के लक्षण हैं उन्हें गन्ने का रस लेना चाहिए।

3. विटामिन सी लें:
पीलिया के इलाज में आहार की अहम भूमिका होती है इस समस्या से निजात पाने के लिए नींबू, संतरा, अजवायन और टमाटर का सेवन करें।

4. ताक प्या (Drink Buttermilk) :
पीलिया में छाछ बहुत असरदार होती है। छाछ का सेवन उचित पाचन में मदद करता है और पीलिया की समस्या को भी दूर करता है।

5. मूली का जूस पिएं:
पीलिया के मरीजों को अपने आहार में मूली का सेवन करना चाहिए। इस बीमारी के खिलाफ वैल्यू जूस बहुत कारगर होता है।

(अस्वीकरण : हम इस लेख में निर्धारित किसी भी कानून, प्रक्रिया और दावों का समर्थन नहीं करते हैं। उन्हें केवल सलाह के रूप में लिया जाना चाहिए।
ऐसे किसी भी उपचार/दवा/आहार को लागू करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है।)

वेब शीर्षक :- पीलिया घरेलू उपचार | जानिए पीलिया होने के कारण लक्षण और घरेलू उपचार

इसे भी पढ़ें

गर्मियों में मधुमेह के लिए टिप्स | गर्मियों में मधुमेह रोगियों को अपने हाई ब्लड शुगर को ‘5’ तरीकों से नियंत्रित करना चाहिए, तो कोई समस्या नहीं होगी।

मधुमेह | अधिकांश लोगों को मधुमेह 4 कारणों से होता है, सावधान रहें

इलायची बीपी को कंट्रोल करने के लिए | ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में कारगर है इलायची, जानिए फायदे

[ad_2]

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Ads
Ads
Leave A Reply

Your email address will not be published.