पवित्र तुलसी का नियमित उपयोग हमारे स्वास्थ्य के लिए है फायदेमंद, जानिए इसके फायदे

0 700

नई दिल्ली: हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का बहुत महत्व माना जाता है. भाग्य देश का इकलौता घर होगा जहां तुलसी का पौधा नहीं है। तुलसी का पौधा जितना पवित्र होता है उतना ही गुणकारी भी। तुलसी कई प्रकार की होती है। श्याम तुलसी, राम तुलसी, विष्णु तुलसी, वन तुलसी, नींबू तुलसी। इन पांच प्रकार की तुलसी के अलग-अलग फायदे हैं।

तुलसी एक एंटीऑक्सीडेंट है तुलसी के अर्क का रस पानी में मिलाकर पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

तुलसी के अर्क को एक लीटर पानी में मिलाकर थोड़ी देर बाद सेवन करना चाहिए।

एंटी-फ्लू का काम करने वाली तुलसी बुखार, फ्लू, स्वाइन फ्लू, डेंगू, सर्दी, खांसी, प्लेग और मलेरिया जैसी बीमारियों में राहत देती है।

तुलसी एक एंटीबायोटिक के रूप में भी काम करती है। इसके रोजाना सेवन से शरीर के हानिकारक तत्व बाहर निकल जाते हैं।

तुलसी एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्वों से भरपूर होती है। इसके नियमित सेवन से शरीर में लाल रक्त कणिकाओं की संख्या बढ़ती है।

जानकारों के मुताबिक गर्भवती महिलाओं को उल्टियां होने लगती हैं। तब तुलसी लाभकारी सिद्ध होती है।

तुलसी को शहद के साथ सेवन करने से सर्दी-खांसी और गले की खराश की समस्या दूर हो जाती है।

तुलसी के प्रयोग से सांसों की दुर्गंध से छुटकारा मिलता है। यह दांत दर्द और मसूड़ों से खून बहने से भी राहत देता है।

विशेषज्ञों के अनुसार तुलसी को शरीर पर लगाने से मच्छरों से बचा जा सकता है।

किसी भी चोट पर तुलसी का रस लगाने से संक्रमण से बचा जा सकता है।

कान में दर्द हो तो तुलसी का रस कान में लगाने से दर्द में आराम मिलता है।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply