centered image />

हृदय स्वास्थ्य: बहुत अधिक नमक और चीनी हृदय के लिए जहर हैं

0 9
Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

हृदय स्वास्थ्य: हृदय स्वास्थ्य का ख्याल रखने के लिए जीवनशैली और खान-पान का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। अधिक नमक, चीनी और अस्वास्थ्यकर वसा वाले आहार से हृदय रोगों का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है। इसलिए जरूरी है कि आप अपने आहार में इनकी मात्रा कम करें। जानें कि नमक और चीनी आपके दिल को कैसे प्रभावित करते हैं।

हृदय रोग के बढ़ते मामले इस बात की ओर इशारा करते हैं कि हमारी जीवनशैली और खान-पान से जुड़ी कुछ आदतें ऐसी हैं, जो दिल के लिए हानिकारक साबित हो रही हैं। कुछ आहार संबंधी गलतियाँ, जैसे भोजन में अधिक नमक, चीनी और अस्वास्थ्यकर वसा, हृदय स्वास्थ्य को गंभीर रूप से नुकसान पहुँचा सकती हैं। इनकी अधिक मात्रा के कारण दिल की कई बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए भोजन में इनकी मात्रा को नियंत्रित करना बहुत जरूरी है। आइए जानें कि कैसे अधिक नमक और चीनी हृदय रोग के खतरे को बढ़ाते हैं।

अस्वास्थ्यकर वसा घातक हो सकती है

आहार में अस्वास्थ्यकर वसा की मात्रा बढ़ने से कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन यानी खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है। खराब कोलेस्ट्रॉल की अधिकता अच्छे कोलेस्ट्रॉल में कमी का कारण बनती है, जिससे धमनियों में रुकावट हो सकती है। धमनियों में रुकावट के कारण रक्त संचार में दिक्कत आती है। हृदय और शरीर के अन्य हिस्सों में रक्त का प्रवाह ठीक से न होने के कारण हृदय पर तनाव पड़ता है, जो दिल के दौरे का कारण बन सकता है। इसी तरह, यदि मस्तिष्क में रक्त की आपूर्ति किसी रुकावट के कारण बाधित हो जाती है, तो स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। ये दोनों ही स्थितियाँ घातक साबित हो सकती हैं। इसलिए, अपने आहार में अस्वास्थ्यकर वसा, जैसे संतृप्त वसा, को कम से कम रखें।

नमक

नमक जीवन की कड़वाहट को घोल सकता है

यह तो आप जानते ही होंगे कि खाने में नमक की अधिक मात्रा कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का कारण बन सकती है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह आपके दिल के लिए भी बहुत हानिकारक साबित हो सकता है। भोजन में नमक की अधिक मात्रा रक्तचाप बढ़ा सकती है, जिसका हृदय पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। नमक की अधिक मात्रा से सोडियम की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे शरीर में द्रव प्रतिधारण बढ़ने लगता है। इससे रक्तचाप बढ़ सकता है, जिससे दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है।

चीनीचीनी

चीनी ए नमक जहर है

कई खाद्य पदार्थों में पहले से ही चीनी होती है, लेकिन यह प्राकृतिक चीनी हृदय के लिए हानिकारक नहीं है। खाने में चीनी मिलाना दिल के लिए हानिकारक होता है। अतिरिक्त चीनी सूजन को बढ़ा सकती है, जो हृदय को नुकसान पहुंचा सकती है। सूजन बढ़ने से हृदय और रक्त वाहिकाओं पर बहुत अधिक तनाव पड़ता है, जो हानिकारक है। इसके अलावा शुगर की मात्रा अधिक होने से ब्लड प्रेशर बढ़ने का भी खतरा रहता है. अतिरिक्त चीनी इंसुलिन प्रतिरोध को बढ़ाती है, जिससे मधुमेह और मोटापे का खतरा बढ़ सकता है। ये दोनों हृदय रोग के जोखिम कारक हैं। इसलिए अपने आहार में चीनी की मात्रा को नियंत्रित करना बहुत जरूरी है।

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Ads
Ads
Leave A Reply

Your email address will not be published.