रोजाना 30 दिन तक कच्चा पनीर खाया और फिर बाद में शरीर में जो हुआ, वो आप खुद ही देख लीजिये

492

कच्चा पनीर खाने से आपकी कई बिमारीया दूर हो जाती है. पनीर खाना सबको पसंद है इसका स्वाद हमे अच्छा लगता है. इस में प्रोटीन, कैल्शियम, वसा, फॉस्फोरस, फोलेट, न्यूट्रीएंट्स. फैटी एसिड लीनोलाइक एसिड ये सभी तत्वो से कच्चा पनीर फला फुला है. इसलिये कच्चा पनीर का सेवन करने से स्वास्थ्य को लाभ मिलता है.

शरीर की हड्डीया अगर मजबूत होगी तो समजो पुरा शरीर लोहे की तरह मजबूत बनता है. कैल्शियम और फॉस्फोरस की वजसे शरीर की हड्डीया मजबूत बनती है. यह कैल्शियम और फॉस्फोरस कच्चे पनीर में अधिक मात्रा में पाया जाता है. इसके सेवन से जोडो के दर्द हड्डीया मजबूत बनती है. इसलिये कच्चे पनीर के सेवन से लाभ होगा.

loading...

कही लोगो को थोडी थोडी बातो पर या काम की वजसे मानसिक तणाव आता है. थकावट होती है ये परेशानी से दूर रहने के लिये 25 ग्राम कच्चा पनीर खाये. इस के सेवन से मानसिक तणाव थकावट दूर होगी. इस में प्रोटीन ज्यादा है, पोषक तत्व है इस के कारण आपकी शारीरिक कमजोरी स्थिर रहेगी और मासपेशिया संतुलित रहेगी.

मोटापा से छुटकारा पाना चाहते है तो आप को यह बात जानकर हैराणी होगी मगर यह बात सच्च है की कच्चे पनीर का सेवन करणे से आप को प्रोटीन, कैल्शियम और लीनोलाइक एसिड प्राप्त होगा इस के कारण शरीर में फैट बर्निंग प्रॉसेस तेज होगा और आपका वजन कम हो जायेगा. इसलिये महिने में दो तीन बार कच्चा पनीर जरूर खाईये.

दिल के बिमारी से परेशान व्यक्ती कच्चा पनीर का सेवन करे इस के सेवन से धमनियो में होने वाली रुकावट दूर होगी. कोलेस्ट्रॉल का लेवल कंट्रोल में रहेगा दिल की बिमारी में राहत मिलेगी.

दात मजबूत बनाने के लिये प्रोटीन और कैल्शियम की जरुरत होती है. यह दोनो तत्व कच्चे पनीर के अंदर बडी मात्रा में है. इसके सेवन से मसुडो से खून आना, कैविटी और दांतों में दर्द होणा इससे अगर राहत चाहते है तो हमेशा कच्चे पनीर का सेवन करना जरुरी है. इससे 100% फायदा मिलता है.

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.