क्या है विटामिन बी-12 ? योन पावर से लेकर बालों को झड़ने से रोकें 

1 397

मानव अपने जीवन में हमेशा यह प्रयास करता है की वह पौष्टिक और स्वादिष्ट भोजन करे, आम तौर पर वह ये अपेक्षा भी करता है कि उसके खान-पान में संतुलन बना रहे जिससे उससे शरीर को कोई भी नकारात्मक अनुभव या बीमारी का सामना न करना पड़े, फिर भी आज कल की जीवन शैली इतनी तीव्र और व्यस्त हो गई है कि मनुष्य के भोजन में कोई न कोई कमी रह ही जाती है, जिसे वह बेपरवाह होकर इग्नोर भी करता रहता है, कभी कभी ये कमियां कई छोटे-बड़े दुष्परिणामों के साथ लौटती हैं | इसी लिए हमें अपने खान पान और उसमें लिए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में पूर्ण जानकारी रखनी चाहिए तथा अपने भोजन को संतुलित बनाने के प्रयास करने चाहिए | वैसे तो सभी पोषक तत्व हमारे शरीर के लिए आवश्यक हैं, मगर आज हम बात करेंगे विटामिन B12 की, जो कि ना सिर्फ जरुरी है, बल्कि इसकी कमी हमारे शरीर के लिए अत्यंत हानिकारक हो सकती है|

आइये सबसे पहले ये जानते हैं कि आखिर विटामिन B12 होता क्या है:-

क्या होता है विटामिन B12 ?

विटामिन B12 एक कार्बनिक यौगिक है। कार्बन के रासायनिक यौगिकों को कार्बनिक यौगिक कहते हैं। प्रकृति में इनकी संख्या 10 लाख से भी अधिक है। विटामिन बी 12 को cobalamin कहा जाता है, यह मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्रकी के सामान्य कामकाज में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ,यह कई महत्वपूर्ण शरीर की प्रक्रियाओं के सुचारू संचालन के लिए जिम्मेदार है, यह एक पानी में घुलनशील विटामिन है , और रक्त के गठन के लिए आवश्यक है । यह विटामिन सबसे अधिक संरचनात्मक रूप से जटिल विटामिन है और केवल बैक्टीरियल किण्वन संश्लेषण के माध्यम से औद्योगिक रूप से उत्पादित किया जा सकता है।

क्या करता है विटामिन B12?

1. विटमिन बी-12 हमारी कोशिकाओं में पाए जाने वाले जीन डीएनए को बनाने और उनकी मरम्मत में सहायता करता है।

2. यह ब्रेन, स्पाइनल कॉर्ड और नर्व्स के कुछ तत्वों की रचना में भी सहायता है।

3. शरीर में RBC का निर्माण भी इसी से होता है।

4. शरीर के सभी हिस्सों के लिए अलग-अलग तरह के प्रोटीन बनाने का भी काम करता है।

5. इस विटामिन का अवशोषण हमारी आंतों में होता है।

6. आँतों में मौजूद लैक्टो बैसिलस, बी-12 के अवशोषण में सहायक होते हैं।

7. यह लिवर में जाकर संग्रहीत होता है। उसके बाद शरीर के जिन हिस्सों को इसकी जरूरत होती है, लिवर द्वारा इसे वहां भेजा जाता है।

आइये जानते हैं कि विटामिन B12 के फायदे क्या क्या हैं :-

1. विटामिन बी 12 प्रतिरक्षा बढ़ाने में अपनी भूमिका के लिए जाना जाता है।

2. विटमिन बी-12 हमारी कोशिकाओं में पाए जाने वाले जीन डीएनए को बनाने और उनकी मरम्मत में सहायता करता है।

3. यह ब्रेन, स्पाइनल कॉर्ड और नर्व्स के कुछ तत्वों की रचना में भी सहायक होता है।

4. हमारी लाल रक्त कोशिशओं का निर्माण भी इसी से होता है।

5. यह शरीर के सभी हिस्सों के लिए अलग-अलग तरह के प्रोटीन बनाने का भी काम करता है।

6. यह तंत्रिका तंत्र का स्वस्थ विनियमन को कम करने में मदद करता है।

7. यह एक स्वस्थ पाचन प्रणाली को बनाए रखने में मदद करता है ।

8. विटामिन बी 12 अस्वास्थ्यकर कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार, स्ट्रोक , और उच्च रक्तचाप के व हृदय रोग भी रोकने में सहायता करता है।

9. यह स्वस्थ त्वचा , बाल और नाखून के लिए आवश्यक है ।

10. यह सेल प्रजनन और त्वचा का लगातार नवीकरण में मदद करता है।

11. विटामिन बी 12 स्तन , पेट , फेफड़े और प्रोस्टेट कैंसर सहित कैंसर के विरुद्ध कार्य करता है

12. विटामिन बी 12 की लाल रक्त कोशिकाओं ( आरबीसी ) के उत्पादन के लिए आवश्यक है, अत: इसकी कमी कमजोरी और थकान का कारण बनती है ।

13. कई अध्ययनों से पता चलता है कि विटामिन बी 12 की पूरकता थकान और थकान से निपटने के लिए संभावित उपचार के रूप में इस्तेमाल की जा सकती है|

14. अवसाद, तनाव, और मस्तिष्क संकोचन में मदद करता है।

अन्य फायदे- विटामिन B12 कुछ अन्य विषयों में भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जैसे :-

काम क्रिया सम्बन्धी फायदे :-

1. वैज्ञानिकों ने माना है कि अन्य आवश्यक विटामिन बी के साथ-साथ विटामिन बी 12, प्रजनन क्षमता को सक्षम करने के लिए तथा योन हार्मोन को नियंत्रित करके काम क्रिया को बढ़ावा देने का काम करता है ।

2. यह काम क्रिया के दौरान ऊर्जावान बनाये रखता है और जल्दी थकने नहीं देता |

3. विटामिन बी 12 अपने प्रजनन प्रणाली के कामकाज में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है |

4. विटामिन बी 12 न केवल काम क्रिया और ऊर्जा को बढ़ाता है बल्कि यह स्त्रियों में प्रजनन क्षमता को भी बढ़ावा देता है

विटामिन B12 बॉडी बिल्डिंग के लिए :-

1. विटामिन बी 12 प्रोटीन और वसा के निर्माण व metabolizing में सहायता करता है।

2. एक बॉडी बिल्डर के रूप में, आप की मांशपेशियों की मरम्मत और ऊर्जा के स्रोत के रूप में वसा का निर्माण करता है

3. बी -12 उन मांसपेशियों को ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए जरूरी हैं, जो लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन के लिए आवश्यक है।

4. यह पोषक तत्व मांसपेशियों पर नियंत्रण के लिए आवश्यक है ।

विटामिन B12 बालों के लिए: –

1. विटामिन बी 12 तंत्रिका तंत्र और लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण के साथ साथ हमारे बालों को भी प्रभावित करता है |

2. विटामिन बी 12 हमारे बालों के रोम सहित शरीर की सभी कोशिकाओं को पोषण प्रदान करता है ।

3. विटामिन बी 12 बालों के विकास के लिए आवश्यक है,

4. जो लोग अक्सर समय से पहले बालों के झड़ने से पीड़ित होते हैं, उनके शरीर में विटामिन बी 12 की कमी है ।

5. यदि आप आहार में विटामिन बी 12 का अपर्याप्त उपभोग करते हैं, तो आप बालों के झड़ने, या धीमी गति से बालों के विकास का अनुभव करते हैं ।

6. विटामिन B12 की पूरकता बालों को लम्बा व घना बनाती है |

विटामिन B12 का उपयोग कहाँ कहाँ हो सकता हैं :-

1. विटामिन बी 12 , साइनाइड विषाक्तता, और ट्रांसकोबलमीन की वंशानुगत कमी के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है ।

2. यह सांघातिक अरक्तता का पता लगाने के लिए शिलिंग परीक्षण के हिस्से के रूप में दिया जाता है

3. विटामिन बी 12 अक्सर एक विटामिन बी कॉम्प्लेक्स तैयार करने में अन्य विटामिन बी के साथ संयोजन में इस्तेमाल किया जाता है ।

4. विटामिन बी 12 डीएनए संश्लेषण में महत्वपूर्ण है।

5. विटामिन बी 12 के भोजन में प्रोटीन के लिए जरूरी है ।

विटामिन B12 के स्रोत , आइये जानते हैं कि यह पोषक तत्व हमें किसके द्वारा प्राप्त होता है :-

1-मानव शरीर को प्रतिदिन औसतन 2.4 माइक्रोग्राम विटमिन बी-12 की जरूरत होती है, जो शाकाहारी लोगों को सामान्यत: 2 ग्लास दूध, 2 कटोरी दही, 100 ग्राम पनीर के अलावा खाने में 45 मल्टीग्रेन आटे से बनी रोटियां, 45 मल्टीग्रेन ब्रेड, ओट्स और बिस्किट के सेवन से मिल जाता है।

2-विटामिन बी 12 आमतौर पर मछली, शंख , मांस, अंडे और डेयरी उत्पादों के रूप में खाद्य पदार्थों की एक किस्म में पाया जाता है |

3-मांसाहारी पदार्थों में तो विटामिन बी 12 की भरपूर मात्रा होती है, लेकिन शाकाहारी लोगों को विशेष रूप से अपने भोजन पर ध्यान देना होता है|

4-विटामिन बी 12 के कुछ मुख्य स्रोत हैं:- जिनमें दूध, दही, पनीर, चीज, मक्खन, सोया मिल्क आदि महत्वपूर्ण हैं।

5-इसके अतिरिक्त धरती के अंदर उगने वाली सब्जियों जैसे आलू, गाजर, मूली, शलजम, चुकंदर आदि में भी विटामिन बी 12 पाया जाता है।

6-नॉन वेजिटेरियन लोगों को अंडा, मछली, रेड मीट, चिकन आदि से विटमिन बी 12 भरपूर मात्रा में मिलता तो है, परंतु इसके अत्यधिक सेवन से बॉडी में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ जाता है, जो हानिकारक है|

7-यदि 1 Kg आटे में 100 ग्राम वे प्रोटीन पाउडर मिला दिया जाए तो इससे विटमिन बी-12 का पोषण मिल जाता है |

8- भोजन में भले ही बी12 होने का दावा किया जाये, किन्तु अधिक पकाने से भोजन में बी12 नष्ट हो जाता है।

9- प्राकृतिक स्रोतों के अतिरिक्त हम इसकी आपूर्ति पूरक स्रोतों, जैसे विटामिन की गोलियों द्वारा भी कर सकते हैं।

10-पूरक स्रोतों में पाया जाने वाला विटामिन बी12 प्रयोगशाला में संश्लेषित होता है। इसमें किसी पशु-उत्पाद का प्रयोग नहीं होता है।

11-पश्चिमी देशों में प्रचलित पैकेटबंद शाकाहारी भोजन (फ़ोर्टिफ़ाइड सेरियल) और चिक्की/पट्टी (ग्रेनोला बार) बी12 सहित आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होता है।

Sab Kuch Gyan से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे…

loading...

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.