टीनएजर्स अपनी डाइट का रखेंगे ख्याल, तो रहेगा हमेशा स्वस्थ्य

428

टीनएजर्स (किशोरावस्था) के दौरान तेजी से बढ़ता शरीर और पढ़ाई एवं कैरियर के दबाव और भागदौड़ भरी जिंदगी से तालमेल बैठाने के लिए खानपान से जुड़ी कुछ खास बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है।

नट्स, फैट और सीड्स :-

इस बारे में जाने माने पोषण विशेषज्ञ ल्यूक कौटिनो के अनुसार, टीनएजर्स की डाइट प्लान में फैट जरूरी होता है। इनका मानना है कि हमारा ब्रैन एक फैटी ऑर्गन है। इसलिए मेवे, घी, बीज और सेहतमंद तेल (ऑलिव ऑयल, नारियल तेल और तिल का तेल) आदि संतुलित मात्रा में अपनी डाइट में शामिल करनी चाहिए।

आयरन :-

जब शरीर में आयरन की कमी हो जाती है तो, पढ़ाई में मन नहीं लगता और थकान एवं चिड़चिड़ेपन की शिकायत बनी रहती है। आयरन ब्रेन के विकास और उसे सेहतमंद रखने में अहम भूमिका का निर्वाह करता है और उससे डोपामाइन जैसे महत्वपूर्ण हार्मोन रिलीज होते हैं। डोपामाइन दिमाग को प्रसन्न रखता है। आयरन के लिए हरी पत्तेदार सब्जियां, हल्दी, गेहूं के ज्वारे और मोरिंगा अच्छे स्त्रोत माने जाते हैं।

कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट्स :-

loading...

इसी तरह अनाज, फल, शकरकंद, बीन्स आदि ग्लूकोज के रूप में दिमाग के ईंधन के पहले स्त्रोत का काम करते हैं। कई अध्ययनों में पाया गया है कि जो विद्यार्थी सुबह नाश्ता नहीं करते उन्हें अपनी क्लास में एकाग्रता में दिक्कत आती है। ऐसा कम एनर्जी लेवल और ब्रेन फोग (दिमागी सुस्ती) की वजह से होता है।

जिंक :-

जिंक की नव्र्स और ब्रेन सेल्स के बीच संवाद कायम रखने में बड़ी भूमिका होती है। शरीर में जिंक की कमी से बौद्धिक क्षमता व समस्याओं को सुलझाने के कौशल पर विपरीत असर पड़ता है। इसके लिए बादाम, लहसुन, कद्दू के बीज, तिल और ऑर्गेनिक अंडों का नियमित सेवन करना चाहिए।

आयोडीन की कमी :-

इसकी कमी से बच्चों में ब्रेन डैमेज की शिकायत हो सकती है। जिन बच्चों की मांएं गर्भावस्था में आयोडीन की पर्याप्त मात्रा नहीं लेतीं, उनके बच्चों की बौद्धिक क्षमता कम होती है। इसलिए इसे गर्भवती और बच्चों व किशोरों को जरूर लेना चाहिए। यह टमाटर, पालक, अंडे, आलू में होता है।

कोलीन :-

यह तत्व दिमाग के सही विकास के लिए बेहद जरूरी होता है। यह अंडों, मछलियों, एवोकेडो, पालक और प्रोबायोटिक्स में पाया जाता है।

विटामिन बी :-

आपके शरीर के नर्व सेल्स को दुरूस्त रखने में विटामिन बी-9 और बी12 की अहम भूमिका है। शरीर में इसकी कमी हो तो सप्लीमेंट लिया जा सकता है। मांसाहारी भोजन में इसकी प्रचूर मात्रा होती है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.