गर्म पानी के शारीरिक लाभ

0 40

Drinking Hot water benefits in hindi

सामान्य पानी शरीर की प्यास दूर करता है तो गर्म पानी शरीर से अनेकों रोगों को बाहर निकालने की सामर्थ्य रखता है । गर्म व कुनकुने पानी का सेहत के साथ बहुत पुराना सम्बन्ध है । गर्म पानी के नित्य नियमबद्ध तरीके से सेवन करने से शरीर को रोगानुसार निम्न प्रकार से लाभ मिलते है-

त्वचा के रुखेपन की समस्या को दूर कर चिकनी व चमकदार त्वचा हासिल करने के लिये एक ग्लास गर्म पानी रोजाना पीएं ।

गर्म पानी पीने से शरीर के सभी विषैले तत्व शरीर से बाहर हो जाते हैं । सुबह खाली पेट और रात्रि भोजन के बाद एक-एक गिलास गर्म पानी पीते कुछ समय लगातार पीने से पाचन सम्बंधी दिक्कतें दूर हो जाती हैं और कब्ज व गैस जैसी समस्याएं परेशान नहीं करती ।

भूख की कमी, भोजन में अरुचि और पेट में भारीपन जैसी समस्या दिखाई दे तो एक गिलास गर्म पानी में एक निंबू का रस, चाय का आधा चम्मच (2ग्राम) काली मिर्च पावडर  और स्वादानुसार थोडा सा नमक डालकर पीने से कुछ ही समय में पेट का भारीपन दूर होकर खुलकर भूख लगना प्रारम्भ हो जाती है ।

खाली पेट गर्म पानी पीने से सीने की जलन दूर होने के साथ मूत्र सम्बन्धी सभी समस्याएं दूर हो जाती हैं ।

वात से उत्पन्न सभी रोगों जैसे जोडों का दर्द, शरीर के किसी भी हिस्से में गैस के कारण उत्पन्न दर्द दूर करनें में गर्म पानी का सेवन अमृत के समान उपयोगी है ।

गर्म पानी के नियमित सेवन से शरीर का तापमान बढता है जिससे पेशाब व पसीने के माध्यम से शरीर के सारे जहरीले तत्व आसानी से शरीर से बाहर निकलते रहते हैं । इसके माध्यम से रक्त संचार (ब्लड सर्क्युलेशन) सुचारु बना रहता है ।

बुखार में प्यास लगने पर रोगी को ठंडा पानी नहीं पीना चाहिये सिर्फ गर्म पानी ही पीना चाहिये । बुखार में गर्म पानी ही शरीर के लिये अधिक उपयोगी होता है ।

पेट की अधिकांश बीमारियां दूषित जल के कारण ही उत्पन्न होती है । यदि पानी को गर्म करने के बाद ठंडा करके पीने की आदत बना ली जावे तो पेट की अधिकांश बीमारियां शरीर में पनपने ही नहीं पाएगी ।

गर्म पानी शरीर में शक्ति का संचार करता है । इसके प्रयोग से कफ व सर्दी से सम्बन्धित सभी रोग दूर हो जाते हैं ।

दमा, हिचकी व खराश जैसे रोगों के समाधान हेतु गर्म पानी का उपयोग करने के साथ ही तले-भुने पदार्थों के सेवन के बाद भी गर्म पानी पी लेना शरीर के लिये उचित रहता है ।

सुबह खाली पेट एक गिलास गर्म पानी में एक नींबू का रस मिलाकर पीने से शरीर को पर्यापत मात्रा में विटामिन सी की पूर्ति होती रहती है । गर्म पानी के साथ नींबू का संयोजन शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाता है व शरीर का पी. एच. स्तर भी इससे सही बना रहता है ।

रोजाना एक गिलास गर्म पानी सिर के सेल्स के लिये उत्तम टानिक का कार्य करता है ।

वजन घटाने के लिये भी गर्म पानी महुत मददगार होता है । भोजन के एक घंटे बाद गर्म पानी पीने से शरीर का मेटाबालिज्म बढता है । यदि गर्म पानी में थोडा नींबू और शहद मिलाकर इसे मुँह में घुमाते हुए पिया जावे तो इससे वजन संतुलित होकर मोटापा दूर होता है ।

हमेशा जवान दिखते रहने की चाहत रखने वाले लोगों के लिये गर्म पानी का नियमित सेवन सदैव एक बेहतरीन औषधि के रुप में मददगार साबित होता है ।

पानी पीने की सही विधि-

  • प्रातः उठकर 2-3 गिलास सामान्य तापमान का या गुनगुना पानी पीना चाहिये । इससे मोटापा, कब्ज, त्वचा, रक्तचाप जैसी शारीरिक समस्याओं से मुक्ति पाने में सहायता मिलती है. यही पानी उषापान कहलाता है ।
  • पानी हमेशा घूंट-घूंट करके व बैठकर पीना चाहिये क्योंकि इससे लार का निर्माण होता है । हमारे पेट में भोजन को पचाने के लिये अम्ल होता है व मुँह में जो लार होती है वह क्षार होती है और अम्ल व क्षार के संयमित संयोग से शरीरमें कब्ज की शिकायत नहीं होती ।
  • पानी हमेशा शरीर के तापमान के अनुसार पीना चाहिये । न ज्यादा ठंडा और न ही बहुत ज्यादा गर्म क्योंकि ज्यादा ठंडा पानी पीने से पेट को अतिरिक्त कार्य करना पडता है और दिमाग, ह्रदय जैसे महत्वपूर्ण अंगों की कार्यशीलता कम होने लगती है । दिमाग का रक्त गुरुत्वाकर्षण के कारण सबसे पहले कम होने लगता है जिससे आगे चलकर ब्रेन हेमरेज जैसी समस्या की गिरफ्त में हमारा शरीरआ सकता है ।
  • ज्यादा ठंडा पानी पीने से पेट की बडी आंत सिकुड जाती है जिससे सभी रोगों की जनक कब्ज की शुरुआत होती है ।
  • खाना खाने के कम से कम 30 मिनिट पहले और 45 मिनिट बाद तक पानी नहीं पीना चाहिये अन्यथा पाचन सम्ब्नधी समस्याएं होती हैं ।
  • कोई भी फल अथवा मीठा खाने के तत्काल बाद पानी नहीं पीना चाहिये ।

loading...

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.