मुंह के छालों के कारण और उपचार

174

पुरुष और महिलाएं सभी मुंह के छालों से पीड़ित हैं। कुछ समय जीभ, होंठ या जबड़े के पिछले हिस्से पर ये घाव बहुत दर्दनाक होते हैं। जब छाले दिखाई देते हैं, तो खाना निगलना और पानी पीना बहुत मुश्किल हो जाता है। मुंह के छाले आमतौर पर पेट की गर्मी या फिर ऐसे लोगों के कारण होते हैं जिनका पेट साफ नहीं होता है। लेकिन अगर आपको बार-बार छाले पड़ते हैं, तो डॉक्टर से मिलें। छाले कुछ साधारण घरेलू उपचारों से या एक या दो दवा की खुराक से ठीक हो जाते हैं, लेकिन अगर ऐसा अक्सर होता है, तो डॉक्टर से सलाह लें। ज्यादातर लोगों को ब्रश करते समय अचानक मसूड़ों में चोट लगने या मुंह में संक्रमण होने से फफोले हो जाते हैं। इस स्थिति के बारे में अधिक जानें (मुंह के छालों के कारण और उपचार)।

मुंह के छालों के लक्षण:

मुंह के छालों को आसानी से पहचाना जा सकता है। यह आमतौर पर होठों, मसूड़ों, जीभ, भीतरी गालों या मुंह के ऊपरी हिस्से पर एक छोटा सा घाव होता है। फफोले के किनारों के आसपास लाल घेरे हो सकते हैं। फफोले के आसपास सूजन। ब्रश करते समय दर्द बढ़ जाना। मसालेदार, नमकीन या खट्टे खाद्य पदार्थ खाने से तेज दर्द होता है (मुंह के छालों के कारण और उपचार)।

छालों के कारण:

मुंह में छाले होने के कई संभावित कारण हो सकते हैं। कई कारक इन घावों के विकास में योगदान कर सकते हैं।

खाते समय गलती से आपका गाल या जीभ कट गई है।

विटामिन-बी12 की कमी।

टूथब्रश का ठीक से न होना या टूथपेस्ट का सूट न होना।

संतरे, अनानास और स्ट्रॉबेरी जैसे अम्लीय खाद्य पदार्थों का अत्यधिक सेवन।

पीरियड्स के दौरान हार्मोन्स में बदलाव।

तनाव, नींद की कमी।

मुंह के वायरल, बैक्टीरियल या फंगल संक्रमण।

आवर्तक छालों की समस्या:
अगर आपको बार-बार फोड़े-फुंसियां ​​होती हैं तो यह समस्या गंभीर हो सकती है। जिसके लिए शीघ्र चिकित्सा उपचार की आवश्यकता होती है। यह भी मुंह के छालों का एक लक्षण है। ऐसे मामलों में चिकित्सा उपचार की आवश्यकता होती है।

सेलिआक रोग (Celiac Disease) :
मधुमेह के कारण। बैचेट रोग (इस स्थिति में पूरे शरीर में सूजन)। प्रतिरक्षा प्रणाली का कमजोर होना, जिसके कारण वायरस और बैक्टीरिया मौखिक कोशिकाओं पर हमला करते हैं।

विटामिन बी12 की कमी :
एनएचएस की रिपोर्ट के मुताबिक अगर आपको बार-बार छाले पड़ रहे हैं तो यह विटामिन बी12 की कमी का संकेत हो सकता है। लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण के अलावा, आपको अपने तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ रखने और भोजन से ऊर्जा प्राप्त करने के लिए इन विटामिनों की आवश्यकता होती है। जिन लोगों में इसकी कमी होती है उन्हें अक्सर छाले पड़ जाते हैं। बार-बार होने वाले फफोले के लिए डॉक्टर से सलाह लें।

(अस्वीकरण : हम इस लेख में निर्धारित किसी भी कानून, प्रक्रिया और दावों का समर्थन नहीं करते हैं।
उन्हें केवल सलाह के रूप में लिया जाना चाहिए। ऐसे किसी भी उपचार/दवा/आहार को लागू करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है।)

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.