डायबिटीज में लो कैलोरी फूड खाना क्यों है जरूरी, जाने

0 969
Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

डायबिटीज में खाएं लो कैलोरी फूड। आम आदमी नहीं जानता कि ग्लाइसीमिक इंडेक्स (glycaemic index) क्या है। (GI) जीआई कहा जाने वाला यह एक ऐसा सूचकांक है, जो खाद्य पदार्थों में मौजूद कार्बोहाइड्रेट को ग्लूकोज में बदलने के आधार पर उन्हें 0-100 के बीच स्थान देता है। डॉक्टर के मुताबिक कम जीआई वाले खाने से ब्लड शुगर कम बढ़ता है। अगर कम (GI) जीआई वाले खाने को ज्यादा (GI) जीआई  वाले खाने के साथ मिला कर खाया जाए तो ब्लड शुगर संतुलित रहता है। इसलिए आप बहुत सी हरी सब्जियों के साथ थोड़ा-सा चावल खा सकते हैं, मगर चावल माडऱहित हो। डॉक्टरों का मानना है कि केवल (GI) जीआई के भरोसे रहना कभी-कभी खतरनाक हो सकता है, क्योंकि आइसक्रीम का जीआई 30 है तो गाजर का कहीं ज्यादा।

डायटीशियन का कहना है कि जीआई केवल यह बताता है कि कार्बोहाइड्रेट ब्लड शुगर में कितनी जल्दी बदलेगा। अपनी प्रतिदिन की कैलरी निश्चित करना होगी और वह आपके कद व वजन के अनुसार होगी। आप जो कुछ भी खाते हैं, वह आपके शरीर में जाकर शुगर निर्मित करता है।

कुछ हिदायतें

डायबिटीज के रोगी को पेय पदार्थ ज्यादा से ज्यादा लेने चाहिए। जितना हो सके पानी पिएं। पेय पदार्थ लेने से शरीर के फालतू तत्व बाहर निकलते हैं। रेड मीट न लें। खाना सोने से दो घंटे पहले खाएं सोते समय दूध लेने से पेट खाली नहीं रहेगा, क्योंकि प्रोटीन डाइट पचने में देर लगती है।
1. करेले का जूस, रात में भिगोया मेथीदाना व जामुन मधुमेह में फायदेमंद है।
2. खाना जल्दी में न खाएं। धीरे-धीरे चबा कर अच्छी तरह खाएं।
3. भरपेट भोजन कभी न करें।
4. खाना खाते समय बातचीत न करें, न ही टीवी देखें। तनावग्रस्त होने व थके होने पर भोजन न करें, क्योंकि इस तरह की स्थिति होने पर पाचन-क्रिया ठीक ढंग से काम नहीं करती। भोजन ठीक से न पचने के कारण शुगर लेवल बढ़ जाता है।
5. कभी सब्जियां सैलेड के रूप में खाएं।
6. ये पांचफल-केला, चीकू, आम, लीची व अंगूर कम खाएं। सब्जियों में आलू-अरबी, जिमिकंद, कटहल और शकरकंदी हानिकर हैं। यदि इनमें से कुछ खाती हैं तो बाकी खाने में कैलोरी संतुलित करें।
7. रेशेदार फल व सब्जियां खाएं। खाने से पहले इन्हें लेने से इनके फाइबर खाने में मौजूद शक्कर को सोख लेते हैं।
याद रखिए ब्रेन को सुचारु रूप से काम करने के लिए जो ऊर्जा चाहिए वह ग्लूकोज से ही मिलती है और पूरे तौर पर इससे परहेज करने पर ब्रेन ठीक से काम नहीं कर पाएगा। इसलिए खाएं सबकुछ, लेकिन अनुपात में। आगे जानिए कुछ स्वादिष्ट व्यंजनों की विधियां, जिन्हें आप खा सकते हैं।

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Ads
Ads
Leave A Reply

Your email address will not be published.