नींद नहीं आने के सबसे असरदार घरेलू उपाय

324

इंसानी शरीर को नींद की उतनी ही जरूरत है जितनी खाने पीने की. नींद का ना आना बीमारी का संकेत हो सकता है. इसलिए गहरी नींद में सोने की कोशिश जरूर करनी चाहिए. लेकिन इसके लिए करना क्या चाहिए? हर उम्र में शरीर की नींद को ले कर जरूरत बदलती है. नवजात शिशु 18 घंटे तक सोते हैं. वहीं वयस्कों को औसतन आठ घंटे की नींद की जरूरत होती है. नींद पूरी ना होने पर थकान होने लगती है और कुछ भी करने में मन नहीं लगता. ऐसा इसलिए है कि नींद में दिमाग की सफाई होती है. ऐसा न होने पर वह ठीक से काम करना बंद कर देता है.

शराब से दूरी

नींद ना आने पर कुछ लोग शराब का सहारा लेने लगते हैं. लेकिन डॉक्टर इस आदत को गलत बताते हैं. अगर एक ग्लास बीयर या वाइन ली जाए तो ठीक है, लेकिन सोने से ठीक पहले इस से ज्यादा शराब लेने से शरीर उसे पचाने के काम में लग जाता है. रेगेंसबुर्ग विश्वविद्यालय में जैविक मनोविज्ञान के प्रोफेसर युर्गेन सुलाई कहते हैं, “अलकोहल गहरी नींद और सपने के चक्र को छेड़ता है और नतीजा पसीना आना, दिल की धड़कन बढ़ना और बार बार नींद का खुलना हो सकता है.” रोज पीने से नशे की लत भी हो सकती है.

loading...

क्यों जरूरी है नींद

चिकित्सा शास्त्र के अनुसार हफ्ते में तीन बार पूरी रात न सोने को नींद न आने की बीमारी समझा जाता है लेकिन डॉक्टर की मदद लेने या दवा खाने से पहले लोगों को जीवन पद्धति में बदलाव का सहारा लेना चाहिए. अच्छी नींद के लिए स्वस्थ जीवन जरूरी है. नियमित रूप से पौष्टिक आहार करना और शाम को ज्यादा न खाना मदद कर सकता है. कुछ दूसरे घरेलू उपचार भी फायदेमंद हो सकते हैं.

शारीरिक श्रम

खाने पर ध्यान देने के अलावा नियमित कसरत करना भी लाभदायक है. शारीरिक परिश्रम शरीर को थकाता है और आराम की जरूरत बढ़ाता है. नियमित खेलकूद करना या टहलना शरीर को चुस्त रखता है और सोने में भी मदद करता है. इसके अलावा योग और ध्यान के जरिए तनाव कम किया जा सकता है. शारीरिक श्रम या मेडिटेशन तकनीक के जरिए तनाव को घटाना सोने की क्षमता बढाता है.

बर्लिन के शारेटे मेडिकल कॉलेज के नींद विशेषज्ञ इंगो फीत्से कहते हैं, “यह सोने को आसान जरूर बनाते हैं, नींद टूटने की समस्या का समाधान नहीं करते.” फीत्से का कहना है कि सबसे अच्छा शारीरिक श्रम है जो अच्छी तरह सोने में मदद करता है. लेकिन शाम में ज्यादा थकने के बदले दिन में व्यायाम करना चाहिए ताकि शरीर को शाम में आराम में आने का मौका मिल सके. रात में कुछ करने का मन है तो फीत्से टहलने को पर्याप्त मानते हैं. सोने से पहले धीमा संगीत भी शरीर को आराम देता है और सोने में मदद देता है.

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.