महान व्यक्तियों के महान विचार

264

अज्ञान

अज्ञान पर सामने से किया जाने वाला हर हमला निश्चित रूप से बेकार जाता है, क्योंकि आम लोग अपनी सब से कीमती चीज की रक्षा करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं, वह चीज है अज्ञान।
-हैड्रिक वैन लून

अज्ञान से घमंड बढ़ता है। जो अपने को सब से अधिक ज्ञानी समझते हैं वे सब से मूर्ख होते हैं।
-गेटे

अज्ञानता एक ऐसी रात्रि के समान है जिसमें न चांद हो, न तारे।
-कन्फ्यूषियस

अज्ञान एक तरह से लंबा बचपन है, जिसमें बचपन की सुंदरता का अभाव होता है।
-बीफर

अध्ययन

जितना मनुष्य पढ़ने लगता है उतना ही ज्यादा सोचता है। और जितना ही ज्यादा सोचता है, उतना ही ज्यादा वह मौजूदा हालात की छानबीन करता है और उन पर ऐतराज करता है। अज्ञान तब्दीली से हमेशा डरता है। वह अज्ञात वस्तु से डरता है, इसलिए वह अपनी जानी-बुझी लीक पर ही चलना पसंद करता है, चाहे उस में उसे कितनी ही मुसीबत क्यों न हो। लेकिन ठीक तौर से पढ़ने या अध्ययन करने से कुछ ज्ञान हो जाता है और आंखें खुल जाती है।
-जवाहरलाल नेहरू

अपराध

मुझे तो ऐसा एक भी व्यक्ति नहीं दीख पड़ता जो अपने दोष स्वयं देख सके और अपने आप को अपराधी माने।
-कन्फ्यूषियस

दूसरों के प्रति किए गए छोटे अपराध, अपने प्रति किए गए बड़े अपराध हैं।
-अज्ञात

खूब सावधानी से छिप कर किए जाने वाले अपराध का भी कोई न कोई साक्षी पैदा हो जाता है।
-बुलवर

हर अनैतिक काम अपराध है, कानून की पकड़ में आना ही अपराध नहीं है।
– जिन्स्बर्ग

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.