मोटी काली इलायची दांतों और मसूड़ों इन्फेक्शन में पहुँचाये आराम

1 54

इसे मसालों का रानी कहते है। काली इलायची नियमित रूप से खाने से ह्दय स्वस्थ रहता है। यह खून के जमने की आशंका को कम कर देती है । सांस संबंधी गंभीर समस्या होने पर काली इलायची से काफी फायदा हेता है। इसके जरिए अस्थमा फेफड़ो को सुजन तपेदिक जैसी सांसों से संबंधित बीमारियो से छुटकारा पाया जा सकता है।

black-cardamom-1

काली इलायची के सेवन दांतों की कई समस्याओ जैसे दांतों और मसूड़ों मे इन्फेक्शन से छुटकारा मिलता है। इसके जरिए सांसो की बदबू से भी निजात मिलती है। यह एक बेहतरीन डाइयूरेटिक है। इससे ना सिर्फ यूरिनेशन सही रहता है, बल्कि गुरदे से संबंधित बीमारियों को भी दूर करती हैं । काली इलायची से सिर दर्द में आराम मिलता है। इससे तैयार किए जानेवाले सुगंधित तेल का इस्तेमाल भी तनाव और थकान को दूर करने के लिए किया जाता है। इसे खाने से ना केवल इम्युनिटि सिस्टम मजबूत होता है, बल्कि शरीर बैक्टीरियल और वायरल इन्फेक्शन से भी दूर रहता है ।

Acidity

काली इलायची एंटी ऑक्सीडेंट विटामिन सी और जरूरी खनिज पोटेशियम से भरपूर होती है । इसे नियमित रूप से खाने से शरीर मे बेहतर ढंग से खून का संचार होता है । और शरीर स्वस्थ रहता है । काली इलायची खाने से त्वचा का रंग भी निखरता है एंटी बैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुणों के कारण काली इलायची का इस्तेमाल स्किन एलर्जी ब सिर की त्वचा में इन्फेक्शन होने पर प्राकृतिक औषधि के रूप में होता है । काली इलायची भीषण गरमी मे लू लगने से भी बचाती है ।छोटी घी इलायची खाना खाने के बाद इसे खाने से बदहजमी और एसिडिटी की समस्या में आराम मिलता है ।

loading...

loading...