प्याज के दाम और बढ़े , सुनकर दिल्ली वालो के उड़े होश

0 1,251
Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

नई दिल्ली: कटाई बाधित होने के बीच दिल्ली और अन्य जगहों पर मंगलवार को प्याज की कीमतों में नया उछाल आया है। राष्ट्रीय राजधानी में आजादपुर मंडी में थोक प्याज 37.50-112.50 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गया है तो आइए जानते है इसका क्या कारण है।

AIIMS भोपाल में निकली नॉन फैकेल्टी ग्रुप A के लिए भर्तियाँ – अभी देखें 

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

अगर आप बेरोजगार हैं तो यहां पर निकली है इन पदों पर भर्तियां

ईस्ट कोस्ट रेलवे में बम्पर भर्ती 2019 : 10वीं, 12वीं और ITI वाले आवेदन करने में देर ना करें -अभी यहाँ देखें 

onion prices increased again in delhi

कृषि उपज विपणन समिति (एपीएमसी) के एक अधिकारी ने कहा, “अगर आज अफगानिस्तान से प्याज की आयात नहीं बढ़ी तो दिल्ली में कीमत 200 रुपये प्रति किलोग्राम के पार हो जाएगी, क्योंकि फसल की घरेलू आपूर्ति काफी गिर गई है।”उन्होंने कहा कि प्याज की थोक कीमतों में बढ़ोतरी आने वाले दिनों में खुदरा बाजार में दिखाई देगी। खुदरा बाजारों में सोमवार को दिल्ली और एनसीआर में प्याज की कीमत 100-150 रुपये प्रति किलो थी। व्यापारी आने वाले दिनों में खुदरा कीमतों में और बढ़ोतरी की आशा कर रहे है।

onion prices increased again in delhi

व्यापार सूत्रों ने कहा कि प्याज की कटाई में काफी कमी आई है क्योंकि किसानों ने देश के कई हिस्सों में बारिश के बाद नई फसल की कटाई रोक दी है, जिससे मिट्टी में नमी बढ़ गई है। एपीएमसी के आंकड़ों के अनुसार, विदेशों से प्याज की आपूर्ति मंगलवार को दिल्ली में लगभग 279.1 टन थी, जबकि घरेलू आपूर्ति सहित कुल आगमन लगभग 566.5 टन था। प्याज व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्र शर्मा ने कहा, ‘किसानों ने प्याज की कटाई बंद कर दी है क्योंकि मिट्टी में बहुत नमी है, जिसकी वजह से आपूर्ति में भारी कमी देखी जा रही है।’ उनके अनुसार, मौसम की स्थिति में सुधार होने पर आपूर्ति बढ़ जाएगी।

onion prices increased again in delhi

होर्डिंग की जांच करने और प्याज की कीमतों को नियंत्रण में रखने के उपाय के रूप में, केंद्र ने पिछले महीने थोक और खुदरा विक्रेताओं के लिए क्रमशः 50 टन और 10 टन की स्टॉक सीमा लागू की है, जिसे आगे 25 टन और 5 टन तक संशोधित किया गया। फिर से, सरकार ने हाल ही में खुदरा विक्रेताओं के लिए स्टॉक सीमा को 2 टन तक घटा दिया। इसके अलावा, केंद्र सरकार ने देश में अपनी उपलब्धता को बेहतर बनाने के लिए 1.2 लाख टन प्याज आयात करने का भी फैसला किया है और कहा गया है कि मिस्र से प्याज की पहली खेप मुंबई बंदरगाह तक पहुंच गई है।

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Ads
Ads
Leave A Reply

Your email address will not be published.