ऐसा 100 रुपये का नोट कहीं आपके पास तो नहीं है, अगर है तो आप रातों-रात बन सकते है मालमाल

2,413

मुद्रा एक ऐसी वस्तु है जिसके बदले हम कुछ भी खरीद सकते हैं और मुद्रा पुराने जमाने से ही चली आ रही है| यदि हम बात करें पुराने जमाने की तो पुराने जमाने में राजा महाराजा विशेष प्रकार की मुद्राएं रखते थे| जिनमें वह तांबा, पीतल, चांदी, सोना आदि धातुओं से उनका निर्माण कराया करते थे| लेकिन समय के साथ-साथ उन में भी बदलाव हुआ और आज के इस वर्तमान समय में भारतीय मुद्रा के रूप में कागज के बने हुए नोट जाने जाते हैं| इतना ही नहीं कागज के बने हुए नोट पूरे संसार में चलते हैं| लेकिन हर देश की अलग करेंसी होती है|

आप सभी जानते हैं समय के साथ साथ मुद्रा में बहुत से बदलाव हुए हैं और हमारे देश में अंग्रेजों के जमाने से लेकर अभी तक बहुत से नोटों की छपाई हो चुकी है| जिनमें अब तक लगभग सभी नोट बंद हो चुके हैं| लेकिन उन नोटों में से कुछ नोट ऐसे हैं जो अगर आज के दौर में आपके पास हैं तो आप उन्हें ऑनलाइन बेचकर मालामाल बन सकते हैं| तो आइए जानते हैं उन नोटों के बारे में विस्तार से…

You do not have such a 100-rupee note, if you can, it can be made overnight.

आप सभी ने बहुत से नोट देखे होंगे लेकिन आज के इस पोस्ट में हम आपको 100 रुपए के नोट के बारे में बताने वाले हैं| जो भारत सरकार द्वारा 1965 ईस्वी में निकाला गया था और 1995 में इस 100 रुपए के नोट का चलन बंद हो गया था| यदि यह 100 रुपए वाला नोट आपके पास उपलब्ध है तो आप इसे ऑनलाइन बेचकर मालामाल हो सकते हैं या फिर आप चाहे तो इसे हैदराबाद के बाजार में भी बेच सकते हैं| हालांकि ऐसी कई वेबसाइट है जो इन पुराने नोटों की खरीददारी करती है जैसे कि Quikr आदि|

You do not have such a 100-rupee note, if you can, it can be made overnight.

10 रुपए का नोट जो कि भारत सरकार द्वारा 1963 ईस्वी में निकाला था| लेकिन आज के इस दौर में इस नोट का चलन बंद है| लेकिन फिर भी इस नोट को ebay वेबसाइट पर आराम से आप बेच सकते हैं|

5 का नोट जो कि लगभग 70 के दशक का है यह नोट 1990 ईस्वी में बंद कर दिया गया था| लेकिन आज इस नोट की कीमत लाखों रुपए है और यदि यह नोट आपके पास है तो आप इसे ऑनलाइन बेचकर भी ढेर सारा पैसा कमा सकते हैं|

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Comments are closed.