हिजाब मामले में सुप्रीम कोर्ट जल्द सुनवाई के लिए तैयार, याचिकाकर्ता ने परीक्षा पर जताई चिंता

0 66

सुप्रीम कोर्ट हिजाब बैन मामले में जल्द सुनवाई के लिए राजी हो गया है. वरिष्ठ अधिवक्ता मीनाक्षी अरोड़ा ने सोमवार को इस मामले को सीजेआई के समक्ष रखा और तत्काल सुनवाई की मांग की। मीनाक्षी अरोड़ा ने सोमवार को इस मामले को सीजेआई के समक्ष रखा और तत्काल सुनवाई की मांग की। उन्होंने कहा कि मुस्लिम लड़कियों को भी परीक्षा देनी होगी। जल्द ही परीक्षाएं शुरू होने वाली हैं। ऐसे में मुस्लिम लड़कियों को परीक्षा में शामिल होने के लिए तुरंत नोटिफिकेशन की जरूरत है। कई ऐसी परीक्षाएं हैं जो केवल सरकारी कॉलेजों में आयोजित की जाएंगी।

हिजाब बैन मामले में

कर्नाटक उच्च न्यायालय के फैसले का हवाला देते हुए, वरिष्ठ वकील ने कहा कि सरकारी आदेशों के अनुसार, राजकीय स्कूलों और कॉलेजों में हिजाब पहनने की अनुमति नहीं है। ऐसे में मुस्लिम लड़कियों की परीक्षा को लेकर चिंता सता रही है. बता दें कि अक्टूबर 2020 में दो जजों की बेंच के फैसले में अंतर आया था. जस्टिस हेमंत गुप्ता ने हिजाब बैन को बरकरार रखा जबकि जस्टिस सुधांशु धूलिया का फैसला इसके खिलाफ था.

याचिका पर CJI चंद्रचूड़ ने कहा कि वह इस मामले को देखेंगे और फिर इसे तीसरी बेंच के सामने रखेंगे. वकील ने कहा कि कई छात्र एक साल पहले ही हार चुके हैं। सरकारी कॉलेजों में हिजाब पर प्रतिबंध लगाने के बाद कई छात्रों को निजी कॉलेजों में प्रवेश लेना पड़ा। लेकिन दिक्कत यह है कि परीक्षा सरकारी कॉलेजों में ही करायी जानी है। निजी कॉलेज परीक्षा नहीं करा सकते। छह फरवरी से प्रैक्टिकल शुरू हो रहे हैं। ऐसे में हम अंतरिम दिशा-निर्देश चाहते हैं।

आपको बता दें कि कर्नाटक हिजाब बैन पर खंडित फैसला देने के बाद खुद चीफ जस्टिस पर बिल्ला लगाया गया था. इससे पहले कर्नाटक हाईकोर्ट ने 10 दिनों तक मैराथन सुनवाई की। दोनों जजों ने अलग-अलग फैसला सुनाया। इसके बाद मामले को आगे की सुनवाई के लिए एक बड़ी पीठ के गठन के लिए सीजेआई को भेजा गया था। जस्टिस धूलिया ने हाईकोर्ट के फैसले को गलत बताया। उन्होंने बालिका शिक्षा को प्राथमिकता दी

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply