रावण की पाँच आदतें उसकी मृत्यु का मुख्य कारण बनी थी

1,019

रामायण का सबसे ताक़तवर खलनायक बताया जाने वाला बलवान रावण मात्र अपने हित के लिए ही जीवन व्यापन करता था वह सबसे श्रेष्ठ एवं महान बनना चाहता था यहाँ तक कि वह देवताओं को भी अपने से नीचा समझता था वैसे रावण शास्त्रों को जानने वाला महान ज्ञानी था लेकिन उसकी बुद्धि धर्म के कार्यों में लगती ही नहीं थी वह किसी देवता की भक्ति करना पसंद ही नहीं करता था।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

इतिहास भले ही रावण को शिव का भक्त बता रहा है लेकिन उसकी भक्ति के पीछे रावण का स्वार्थ छिपा हुआ था सर्वज्ञानी महादेव जानते थे कि यदि रावण के कार्य सिद्ध हुए तो वह इस संसार की काया पलट देगा इसलिए उसे अमर बनने की वरदान ही नहीं दिया। श्री रामचरित मानस अनुसार रावण के अंदर ऐसी पाँच आदतें थी जो उसकी मृत्यु का मुख्य कारण बनी थी।

loading...

रावण किसी महिला का सम्मान करना जैसे जानता ही नहीं था वह स्त्रियों से अपना स्वार्थ सिद्ध करता था इसी वजह से रावण को रंभा, सीता और उसकी बहन सर्पणखा से अभिशाप मिला था।

Five habits of Ravana were the main reason for his death.

बलवान रावण को खुद की प्रशंसा सुनना अधिक प्रिय था चाहे वह झूठी ही क्यों ना हो, जब रावण के सामने उसके भाई विभीषण ने श्री राम की भलाई की तो यह सुनकर रावण ने अपने भाई को राज से भगा दिया था।

रावण चाहता था कि मदिरा का सेवन करना पसंद करता था लेकिन उसकी दुर्गंध से परेशान होकर उसने शराब के अंदर सुगंध डालना चाहा लेकिन उसका यह सपना पूर्ण नहीं हो सका।

वह भगवान की सत्ता को मिटाने के लिए स्वर्ग तक की सीढ़ियाँ बनाना चाहता था ताकि किसी भी व्यक्ति को स्वर्ग जाने के लिए कठिन तप नहीं करना पड़े।

रावण जानता था कि राम भगवान विष्णु के अवतार है लेकिन इसके बावजूद उसने सीता हरण कर दिया था यही ग़लती उसके मृत्यु का कारण बनी थी।

यदि आपको भी पौराणिक जानकारी पढ़ना पसंद है तो लाइक बटन अवश्य दबाए और क़ीमती सुझाव देने के लिए कमेंट करना ना भूले।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.