PSLV 24th flight: महासागरों का अध्ययन करने के लिए ओशन सेट समेत नौ सैटेलाइट लॉन्च किए जाएंगे.

0 79

PSLV 24th flight: महासागरों के वैज्ञानिक अध्ययन और चक्रवातों की निगरानी के लिए भारत शनिवार को तीसरी पीढ़ी के महासागर-सैटर्न लॉन्च करेगा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) का लोकप्रिय रॉकेट PSLV-C54 इसे आठ अन्य नैनो उपग्रहों के साथ पृथ्वी की कक्षा में स्थापित करेगा। इस मिशन की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है.

प्रक्षेपण श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से सुबह 10 बजकर 26 मिनट पर प्रस्तावित है। यह 44.4 मीटर लंबे रॉकेट का पीएसएलवी-एक्सएल प्रकार है, जिसका उत्थापन भार 321 टन है यानी रॉकेट ही, बूस्टर, प्रणोदक, उपग्रह और उपकरण। यह रॉकेट की 24वीं उड़ान होगी।

इसरो के वैज्ञानिक इसे अब तक के सबसे लंबे मिशनों में से एक मान रहे हैं। इसमें रॉकेट उपग्रह को दो कक्षाओं में ले जाएगा। प्रक्षेपण के 20 मिनट बाद ओशन-सैट को पृथ्वी से 742 किमी की ऊंचाई पर छोड़ा जाएगा। इसके बाद रॉकेट को पृथ्वी की ओर लाया जाएगा और बाकी उपग्रहों को 516 से 528 किमी की ऊंचाई पर छोड़ा जाएगा।

PSLV 24th flight: सबसे लंबे मिशनों में से एक होगा

सूत्रों ने यह भी बताया कि यह मिशन इसरो के वैज्ञानिकों द्वारा किए गए सबसे लंबे मिशनों में से एक होगा। यह पीएसएलवी-सी54 लॉन्च वाहन में उपयोग किए जाने वाले दो-ऑर्बिट चेंज थ्रस्टर्स (ओसीटी) का उपयोग करके कक्षा को बदलने के लिए रॉकेट को संलग्न करेगा। अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट को ऑर्बिट-1 में अलग किया जाएगा जबकि पैसेंजर पेलोड को ऑर्बिट-2 में अलग किया जाएगा।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply