Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana:पति-पत्नी को मिलेंगे प्रतिमाह 18500 रुपये, जानिए कैसे

0 137
Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

पीएम पेंशन: भविष्य के पैसे को लेकर हर कोई चिंतित है। इतने सारे लोग निवेश का विकल्प चुनते हैं।

ऐसे में सरकार ने Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana शुरू की है। इस योजना के तहत पति-पत्नी को 18500 रुपये प्रतिमाह मिलेंगे।

वरिष्ठ नागरिकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री वय वंदना योजना शुरू की गई है। एलआईसी सरकार के लिए यह पेंशन योजना चला रही है। पहले निवेश की सीमा 7.50 लाख रुपये थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 15 लाख रुपये कर दिया गया है।

इतना ब्याज मिल रहा है

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana पर सालाना 7.4 फीसदी ब्याज मिलता है। अब इसमें 60 साल से ऊपर का व्यक्ति 15 लाख रुपये का निवेश कर सकता है।

इस योजना में पति-पत्नी दोनों निवेश कर सकते हैं। अगर पति-पत्नी दोनों 60 साल की उम्र में इस योजना में 15 लाख रुपये का निवेश करते हैं, तो उन्हें 18,300 रुपये की पेंशन मिलेगी।

यह है पीएम पेंशन योजना

60 साल से ऊपर के सभी नागरिक 15 लाख रुपये तक निवेश कर सकते हैं। यह निवेश 31 मार्च 2023 से पहले करना होगा। इसमें आपको निवेश के आधार पर 1000 रुपये से 9250 रुपये प्रतिमाह पेंशन मिलती है।

अगर आप प्रधानमंत्री वय वंदना योजना में कम से कम 1.50 लाख रुपये का निवेश करते हैं तो आपको हर महीने 1,000 रुपये का निवेश मिलेगा.

15 लाख रुपये के निवेश पर आपको 9250 रुपये प्रतिमाह पेंशन मिलेगी। अगर पति-पत्नी निवेश करते हैं तो आपको 30 लाख रुपये का निवेश करना होगा और उसके बाद आपको हर महीने 18,500 रुपये मिलेंगे।

आप इस प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के लिए यहां से आवेदन कर सकते हैं

आपको 1 साल, 6 महीने, 3 महीने और हर महीने पेंशन मिल सकती है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपने कौन सा प्लान लिया है। इस योजना का लाभ ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरह से उठाया जा सकता है।

आप एलआईसी की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते हैं। आप एलआईसी शाखा में जाकर ऑफलाइन भी आवेदन कर सकते हैं। यह योजना 10 साल के लिए है। यदि इस बीच पेंशन पॉलिसीधारक की मृत्यु हो जाती है, तो नामांकित व्यक्ति को प्रधान मंत्री वय वंदना योजना की मूल राशि मिलती है।

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Ads
Ads
Leave A Reply

Your email address will not be published.