मानिसक तनाव और आपका स्वास्थ्य

0 30

Mental Stress and Your Health अधिकांश लोग शरीर और मन  को अलग समझते हैं, पर वास्तव में वे दोनों अलग होते हुए भी एक सिक्के के दो पहलू हैं। उदाहरण के लिए क्रोध, भय, चिंता या शोक में से किसी एक का भाव मन में आने पर पेट की भूख अपने आप खत्म हो जाती है। इसके विपरित यदि मन प्रसन्न हो तो भूख अच्छी लगती है और भोज्य सामग्री अति स्वादिष्ट।

परंतु इसके साथ यह भी सच है कि अचानक किसी बात की ज्यादा खुशी होने पर भूख-प्यास, नींद उड़ जाती है। कहने का मतलब यह है की अगर मन का अन्दर शांति व तसल्ली का भाव रखिये. हाल ही में हुए एक शोध के अनुसार डॉक्टरों ने पाया है कि जो लोग मानसिक तौर पर खुश रहते है वह कम बीमार और चिंता मुक्त रहते है वहीँ दूसरी ओर जो लोग ज्यादा टेंशन, ज्यादा अपने ऊपर काम का बोझ लेते हैं. वह लोग जल्दी बिमारियों और टेंशन में आ जाते हैं. अत: यदि आप लोग मानसिक तनाव और हैप्पीनेस को बराबर अनुपात में रखेंगे और आप अपना जीवन अच्छे ढंग से व्यतीत कर पाएंगे.

loading...

loading...