व्रत रखने वाले खाते हैं अगर साबूदाना, तो ये सच जरूर जाने

0 2,465

कई लोग जब व्रत रखते है तो उसमें वह साबूदाना का सेवन ज्यादातर करते है। साबूदाना में कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, स्टार्च और इसके साथ विटामिन सी पाया जाता है। जो शरीर के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन आज के समय में 80 % से ज्यादा लोग यह नहीं जानते कि साबूदाना कैसे बनता है।

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

अगर आप बेरोजगार हैं तो यहां पर निकली है इन पदों पर भर्तियां

दसवीं पास लोगों के लिए इस विभाग में मिल रही है बम्पर रेलवे नौकरियां

sabudana kaise banta hai aur vrat me khate hain kya aap

साबूदाना को बनाने के लिए टैपिओका नामक स्टार्च का उपयोग किया जाता है। जब साबूदाने को बनाते है तो सबसे टैपिओका के गूदे को निकालकर किसी बड़े तबेले में डाल लेते है।

If fasters eat sago, then this must be known

फिर उसमें लगातार पानी डाला जाता है। फिर इसे सुखाने के लिए छोड़ दिया जाता है। सुखाने के बाद इन पर पर ग्लूकोज और स्टार्च से बने पाउडर की पॉलिश की जाती है। उसके बाद साबूदाना बनता है।

If fasters eat sago, then this must be known

साबूदाना बनने की शुरूआत 1943 से 1944 के दौरान तमिलनाडु के सेलम में इसके बनाने की शुरूआत हुई थी। टैपिओका का पौधा मूलरूप से पूर्वी अफ्रीका में पाया जाता है। इसका दूसरा नाम कसावा भी है। भारत में साबूदाना टैपिओका स्टार्च से ही बनाया जाता है.

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply