कैसे करें मधुमक्खी का पालन, दुनिया के सब से खतरनाक कीड़े

483

5- Bullet Ants

इस “Bullet Ants” को सेंट्रल और साउथ अमेरिका के वर्षा वनों में देख सकते हैं एक Bullet Ants का डंक मधुमक्खी से भी 30 गुना ज्यादा दर्दनाक होता है इनका डंक 24 घंटे तक आपको खतरनाक दर्द देता है और यह दर्द बिल्कुल गोली लगने के समान होता है।

4- Bot Flies

यह कीड़ा भी सेंट्रल और साउथ अमेरिका के वर्षा वनों में पाया जाता है ”Bot Flies” एक खतरनाक कीड़ा है जो आपकी त्वचा के अंदर घुस जाता है क्योंकि यह जानवरों और इंसानों के शरीर में अपना घर बनाते हैं इसके अलावा यह लारवा आपके शरीर में 60 दिनों तक रहता है और एक बार पूरी तरह मक्खी में बदलने के बाद आपका शरीर छोड़ देता है 60 दिनों तक लारवा होना आपकी त्वचा और शरीर के लिए खतरनाक हो सकता है।

loading...

3- Fire Ants

अगर आप घर से बाहर खेलते हैं तो आप इन चीटियों से कभी मिलना नहीं चाहेंगे क्योंकि यह किसी भी बाहरी घुसपैठ को बर्दाश्त नहीं करती और जब तक आप को पता चलता है तब तक यह आपको कई बार काट चुकी होती है और तब तक काटती रहती है यह इतनी तादाद में आपके शरीर पर चढ़ जाती है कि इन्हें हटा पाना मुश्किल हो जाता है कई बार इंसान चीटियों के काटने पर एलर्जी रिएक्शन हो जाता है।

2- The Giant Japanese Hornet

यह दुनिया की सबसे बड़ी मधुमक्खी है यह होर्नेट 5 सेंटीमीटर बड़ी हो सकती है इनका जहर इन्हें और भी खतरनाक बनाता है जिससे एलर्जी रिएक्शन शुरू हो जाता है अगर यह कई बार आपको काट लेते हैं तब आप की मौत भी हो सकती है इसीलिए 40 लोग हर साल इस मधुमक्खी काटने से मारे जाते हैं।

1- Killer Bees

यह दुनिया की सबसे खतरनाक मधुमक्खी है इनका जहर और ढंग इंसान की जान नहीं ले सकता लेकिन अगर एक साथ कई मधुमक्खियां इंसान को काट लेती है तब उसकी मौत हो सकती है यह एक कॉलोनी में 80 हजार मधुमक्खियां होती है इनकी पूरी कॉलोनी के पीछे पड़ जाती है और हमला करने से पीछे नहीं हटती और ज्यादातर इंसानों की आंखों और चेहरे पर हमला करती है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.