महामानव गौतम बुद्ध के महान विचार

0 151

Gautam Buddhas InspirationaltThought in hindi

Related Posts

1. इस संसार को चलाने वाला कोई नही है और ना ही कोई बनाने वाला है।

2. न तो ईश्वर है और न ही आत्मा। जिसे आप लोग आत्मा समझते हैं वह चेतना का प्रवाह है और यह प्रवाह कभी भी रुक सकता है।

3. भगवान् और भाग्यवाद कोरी कल्पना है जो हमें जिंदगी की सच्चाई और असलियत से अलग कर दूसरे पर निर्भर बनाती है।

4. पाँचों इन्द्रियों की मदद से जो ज्ञान मिलता है उसे आप लोग आत्मा मान लेते हैं। असल में तो बुद्धि ही जानती है कि क्या है और क्या नही ?

5. मात्र बुद्धि (तर्क) का होना ही सत्य है। बुद्धि से ही यह समस्त संसार प्रकाशवान है।

6. न यज्ञ करने से कुछ भला होता है और न ही धार्मिक किताबों को पढ़ने से। धर्म की किताबों को गलती से परे मानना नासमझी है। पूजा-पाठ से कुछ शुभ-अशुभ नही होता और न ही पाप धुलते हैं।

7. किसी भी बात पे सिर्फ इसलिए विश्वास कर लेना कि वो किसी धार्मिक व्यक्ति द्वारा कही गयी है, मूर्खता है।

8. किसी भी बात को पहले जानो, छानो तब मानो। अपनी तर्कशक्ति और बुद्धि विवेक का पूर्ण रूप से इस्तेमाल कीजिये।

महामानव गौतम बुद्ध के महान विचार

Sab Kuch Gyan से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे…

loading...

loading...