आखिर कैकेयी ने राम को सिर्फ 14 साल का ही वनवास क्यों दिया था , आज जानें सच

2,167

एक समय की बात है जब देवताओं और दानवों के बीच युद्ध हो रहा था उसी समय राजा दशरथ देवताओं की मदद करने गए थे। उनके साथ कैकेयी भी थी। युद्ध के समय दशरथ के रथ का धुरा टूट गया लेकिन कैकेयी ने धुरे में अपना हाँथ लगा दिया जिससे धुरा टूटने से बच गया। यद्ध समाप्त होने पर दशरत ने कैकेयी की इस बहादुरी पर उनको 2 वरदान मांगने को कहा। कुछ समय बाद कैकेयी ने राम को 14 साल वनवास और भरत राज सिंहासन की मांग की। अब बात आती है की 14 साल ही क्यों?

SBI बैंक में निकली 10th-12th के लिए क्लर्क भर्ती- लास्ट डेट : 26 जनवरी 2020

RSMSSB Patwari Recruitment 2020 : 4207 पदों पर भर्तियाँ- अभी आवेदन करें

loading...

AIIMS भोपाल में निकली नॉन फैकेल्टी ग्रुप A के लिए भर्तियाँ – अभी देखें 

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

रामायण की कहानी त्रेतायुग के समय की है अगर उस समय कोई राजा 14 वर्षों के लिए अपना राजपाट छो़ड़ देता था। तो वह दोबारा राजा नहीं बन सकता है। इसलिए कैकेयी ने सोच समझ कर ही राम के लिए 14 वर्ष का वनवास माँगा था। क्योकि 14 वर्ष राजपाट से दूर रहने के बाद वह राजा नहीं बन सकते थे।

Why kaikayi gave only 14 years vanvaas to ram

लेकिन भरत ने उस राजगद्दी को वैसे ही छोड़ दिया और खुद वनवासियों जैसा जीवन बिताने लगे और राम के वापस आने पर राम को राजपाट सौंप दिया था।  अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो कमेंट में जय श्री राम जरूर लिखें

Why kaikayi gave only 14 years vanvaas to ram

 

 

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.