महाशिवरात्रि की अदभुत बातें जो हर एक भारतीय को पता होनी चाहिए

0 204
महाशिवरात्रि का पर्व पूरे भारत वर्ष में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं शिवरात्रि क्यों मनाई जाती है और इसे मनाने के पीछे क्या कारण है. इसलिए हम हम आपके लिए कुछ रोचक तथ्य लायें है जो एक सच्चा भक्त और एक सच्चे हिन्दुस्तानी को जरूर जानने चाहिए. जैसा कि आपको पता है कि महाशिवरात्रि का पवित्र बंधन एक ही रात दूरी है तो क्यों ना हम इस अवसर पर कुछ ऐसी बातें जाने महाशिवरात्रि के बारे में जो आपने पहले ना सुनी हो.
  • शिवरात्रि इस दिन शिव जी ने पार्वती जी के साथ शादी रचाई थी.
  • महाशिवरात्रि हिन्दू फाल्गुन महीने या फाल्गुन कृष्ण चतुर्थी के 14 दिन को पड़ती है.
  •  और यह भी कहा जाता है कि महाशिवरात्रि की रात भगवान शिव की सबसे पसंदीदा रात थी
  • इस दिन भगवन शिव ने सबसे जोशीला और भावनाओं से पूर्ण तांडव नृत्य किया था जो कि सबसे प्रभावशाली नृत्य माना जाता है।
श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग – आरती(तांडव स्वरुप ) श्रृंगार दर्शन 💐विशेष शिव नवरात्रि अष्टम दिवस
  •  यह रात बिन बिहाई लड़कियों के लिए बहुत अच्छी रात होती है जिनको भगवान शिव जैसा पति चाहिए होता है, वह इस दिन भगवान शिव का व्रत रखती है.
  • ऐसा माना जाता है कि जो भी भगवान शिव के भक्त हैं  वह अगर शिवरात्रि की रात भगवान शिव का नाम लेते हैं तो उनके सारे पाप धुल जाते हैं.
  • कहा जाता है अगर कोई भी भक्त दिल से भगवान शिव की पूजा करता है तो उसे आगे जाकर सफलता और बुरी शक्तियों से छुटकारा मिलता है.

  • निशिता काल के समय जब भगवान शिव को शिव लिंग के रूप में प्रकट किया गया था इसलिए इस रात का सबसे महवत्पूर्ण समय माना जाता है
  • सारे भक्त पूरी रात जग कर शव के साथ रहते है जो कि अमृत मंथन में समुद्र का विष पीने के बाद सोये नही है.
  • लाखों से ज्यादा लोग 12 ज्योतिर्लिंग का मंदिर में जाते हैं और वहां पर जाकर उनसे प्रार्थना करते हैं और महाशिवरात्रि की रात को उनका रुद्र अभिषेक करते हैं
  • महाशिवरात्रि सिर्फ इंडिया में ही नहीं बनाई जाती बल्कि ऐसे बहुत से देश हैं जहां पर महाशिवरात्रि मनाई जाती है.
  • जो भी शिवलिंगम के दौरान शिव जी को अपनी श्रद्धा अर्पण करता है उन सभी को भगवान शिव की कृपा मिलती है यह सब जानकारी शिवपुराण में दे रखी है और साथ-साथ उनके फायदे भी दिए हुए हैं.
  • इस दिन शिव पंचकशी मंत्र, ओम नमः शिव, अपने विभिन्न नामों के साथ भक्त शिव का नाम लेते हैं।

‘‘सभी तरह की सूचना एवं सामान्य ज्ञान अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

यदि आपको यह खबर पसन्द आई हो तो ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। आपका दिन शुभ हो धन्यवाद |

loading...
loading...

Leave a Reply