अगर आपको सुखी जीवन जीना है तो भगवान शंकर से सीखें

133

भगवान शिवजी को गृहस्थी का देवता कहा जाता हैं। सभी लड़कियां अच्छा पति पाने के लिए भगवान शिवजी पूजा – अर्चना करती हैं, ऐसे ही शादीशुदा महिला अपने पति की लंबी उम्र के लिए शिवरात्री का व्रत रखती हैं। भगवान शिवजी को सावन का महिना सबसे ज्यादा प्रिय होता हैं। इस साल सावन महीने की शिवरात्री 9 अगस्त के दिन मनाई जाएगी। ऐसा कहा जाता हैं कि सावन की शिवरात्रि के दिन भगवान शिवजी की आराधना करने से भक्तों की सारी इच्छाएं पूरी होती हैं। तो चलिए जानते हैं कुछ खास बातें, जो सभी शादीशुदा जोड़े को भगवान शिव और माता पार्वती से अपने खुशहाल जीवन के लिए सीखनी चाहिए ।

समानता का अधिकार:

sukhi-jeevan-jeene-ke-saral-upay (2)

भगवान शिवजी ही एक ऐसे देवता हैं, जिनको अर्धनारीश्वर के रूप से भी जाना जाता हैं। अर्धनारीश्वर शब्द का अर्थ होता है कि शंकर की आधी प्रतिमा पुरुष और आधी प्रतिमा स्त्री की हैं। भगवान शिवजी का ये रूप शादीशुदा लोगों को ये समझाता हैं कि भले ही पति और पत्नी का शीर अलग हों मगर उन दोनों का मन एक ही होता हैं। आपने कई बार ऐसा देखा होगा कि पति पत्नी के बीच खुदको को बड़ा समजने की वजह से ही झगड़ा होता हैं ।

प्यार:

sukhi-jeevan-jeene-ke-saral-upay (3)

भगवान शिवजी और माता पार्वती ऐसे लोगों के लिए उदाहरण है जो लोग शादी करते समय खूबसूरती और बैंक बैलेंस को सबसे ज्यादा महत्व देते हैं। माता पार्वती ने गले में सर्प की माला वाले और भस्मधारी शिव को पसंद किया था। इसीलिए लोगों को यह कहा है कि एक अच्छे जीवन के लिए दोनों के बीच समर्पण और प्यार ही जरूरी हैं ना कि खूबसूरती और पैसा ।

ईमानदार :

Advertisement

sukhi-jeevan-jeene-ke-saral-upay (4)

सभी लड़कियां ऐसा चाहती कि उसे शिवजी जैसा सीधा और प्यार करनेवाला जीवनसाथी मिले और उसकी किसी भी बात को नजरअंदाज न करें। भगवान शिव माता पार्वती से कितना प्यार करते थे इस बात का पता तब भी चला था जब भगवान शिवजी के अपमान से दुखी होकर माता पार्वती सती हो गई थी और ऐसा देखकर भगवान शिवजी ने रौद्र रूप लेकर दुनिया का विनाश करना शुरू कर दिया था और देवताओं के बोलने पर भगवान शिव शांत भी हो गए थे।

एक अच्छा मुखिया:

sukhi-jeevan-jeene-ke-saral-upay (1)

जिस तरह घर का मुखिया अलग-अलग विचार होने पर भी अपने पूरे घर को एक साथ संभालकर चलता हैं, ऐसे ही भगवान शिव भी अपने परिवार को एक साथ ही रखते हैं। उदाहरण के तौर पर जैसे भगवान शिवजी के गले में सर्प की माला है और उनके पुत्र गणेश का वाहन चूहा जो सर्प का दुश्मन हैं। उसके बावजूद भी उनके बीच किसी भी तरह की शत्रुता नहीं हैं। उसके बाद ठीक वैसे ही माता पार्वती का वाहन शेर हैं और भगवान शिवजी का वाहन बैल हैं। वो दोनों एकदूसरे के दुश्मन होने के बावजूद भी एकदूसरे से मिल झूलकर रहते हैं। भगवान शिवजी को ऐसे गृहस्थ देवता माना जाता हैं, जो कठिन परिस्थिति में भी अपने परिवार को साथ में लेकर ही चलते हैं ।

जिओ में निकली Sale :- 

Jio 2 Smartphone  मोबाइल को 499 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

JIO Mini SmartWatch को 199 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

JioFi M2 को 349 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

Jio Fitness Tracker को 99 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

चर्बी घटाने के आसान टिप्स | pet ki charbi | BellyFat | मोटापा

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Advertisement