दिन में सोने से बचे, ये आपके लिए खतरनाक हो सकता है

759

अधिकांश घर पर रहने वाले अपने सुबह और दोपहर के काम निपटाने के बाद दिन में थोड़ी देर सोना पसंद करते है, चाहे वो १५ मिनट्स के लिए हो या फिर २ घंटे, यह उनकी एक रेगुलर आदत बन चुकी होती है, लेकिन सावधान एक रिपोर्ट के मुताबिक लगातार दिन में देर तक सोने वाले बुजुर्गों में यह दिमागी बीमारी (डिमेंशिया) का लक्षण हो सकता है.

द टेलीग्राफ की एक रिपोर्ट के मुताबिक फ्रांस के शोधकर्ताओं ने 65 वर्ष के करीब पांच हजार लोगों पर अध्ययन करके यह पाया कि रोजाना दोपहर में देर तक सोने वाले लोगों के बुद्धिमत्ता परीक्षण में काफी कम अंक आए. वानकोउवर में आयोजित अलजाइमर संगठन की अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी में चिकित्सा संस्थान के क्लाउडिन बेर्र ने इन्हीं रिपोर्टों का हवाला देते हुए कहा कि इनसे स्पष्ट है कि दिन में देर तक सोना डिमेंशिया बीमारी का शुरुआती लक्षण हो सकता है. डिमेंशिया से ग्रस्त लोगों में झूलने के लक्षण चीजों को पहचान नहीं पाना. सही गलत के बीच भेद नहीं कर पाना, सोच नहीं पाना जैसे लक्षण शामिल होते हैं.

अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी में अमेरिकी शोधकर्ताओं की ओर से पेश रिपोर्ट में भी कहा गया कि रात में नौ घंटे से अधिक या पांच घंटों से कम देर सोने वाले लोगों की मानसिक क्षमता कम पाई गई. इसलिए कोशिश कीजिये दोपहर को थोडा अपने आपको बिजी रखने की, यह आपके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है. क्यूंकि जीवन अनमोल है.

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.