जापान की राजधानी टोक्यो को छोड़कर ग्रामीण इलाकों में बसने से हर साल होगी 6 लाख रुपये की कमाई, जानिए वजह

0 91
Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

जापान अपनी घटती आबादी से इतना तंग आ चुका है कि वह राजधानी टोक्यो के बाहर लोगों को बसाने के लिए भारी रकम चुकाने जा रहा है। इसी वित्तीय वर्ष से इसकी शुरुआत हो जाएगी। आपको बता दें कि पिछले कुछ समय से जापान में जन्म दर में लगातार गिरावट आ रही है, जबकि औसत आयु लगातार बढ़ रही है।

जापान में स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, लोगों को राजधानी टोक्यो के बाहर रहने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में, प्रत्येक बच्चे को इस वर्ष 1 मिलियन येन दिया जाएगा, जो लगभग 7700 डॉलर या लगभग 6,37,864 रुपये है। . जापान अभी भी लोगों को ग्रामीण क्षेत्रों में बसने के लिए 300,000 येन देता है, लेकिन इस साल यह राशि तीन गुना से अधिक थी। नई अधिसूचना के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों में बसने के बाद युवा घर से काम कर सकते हैं या अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। व्यापार में भी अलग से सहायता दी जाएगी। जापान के ग्रामीण क्षेत्रों ने पिछले कुछ वर्षों में जनसंख्या में भारी गिरावट का अनुभव किया है। कई गांव लगभग खाली हैं, घर बंद हैं। क्योंकि, नौकरी और अन्य अवसरों की तलाश में युवा शहरों की ओर पलायन कर रहे हैं।

5 साल के लिए पैसा मिलेगा

जापानी सरकार की नई नीति (जापान जनसंख्या नीति) के अनुसार, अगर किसी परिवार के दो बच्चे हैं, तो सरकार उन्हें राजधानी टोक्यो के बाहर बसने के लिए 3 मिलियन येन देगी। यह सहायता राशि 5 वर्ष तक जारी रहेगी। आपको बता दें कि ग्रामीण क्षेत्रों में आबादी बढ़ाने के लिए वित्तीय सहायता की यह योजना वर्ष 2019 में शुरू की गई थी। वर्ष 2021 में 1184 परिवारों ने इस योजना का लाभ लिया, जबकि इससे पहले जब योजना शुरू की गई थी तो केवल 71 लोग ही योजना का लाभ लेने के लिए आगे आए थे.

 

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Ads
Ads
Leave A Reply

Your email address will not be published.