भारत के दुश्मन ना ले पंगा, अमेरिका देगा भारत को धाकड़ मिसाइल सिस्टम

233
देश:- वॉशिंगटन अमेरिका ने रूसी एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम के विकल्प के रूप में भारत को टर्मिनल हाई एल्टिट्यूड एरिया डिफेंस (टीएचएएडी) और पैट्रियट अडवांस्ड कैपेबिलिटी (पीएसी-3) मिसाइल डिफेंस सिस्टम बेचने की पेशकश की है. हालांकि इस ऑफर की अभी तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. हालांकि अमेरिका नहीं चाहता है कि भारत, रूसी मिसाइल डिफेंस सिस्टम खरीदे. अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, हम सार्वजनिक रूप से प्रस्तावित रक्षा बिक्री की पुष्टि नहीं करते हैं या तब तक पुष्टि नहीं करते हैं जब तक कि उन्हें औपचारिक रूप से अमेरिकी कांग्रेस को सूचित नहीं किया जाता है.

भारत कई सालों तक चली बातचीत के बाद रूस से अत्याधुनिक एस-400 मिसाइल सिस्टम की खरीद के लिए समझौता कर चुका है. ट्रंप प्रशासन ने रूस के साथ हथियार खरीद को लेकर अभी कोई फैसला नहीं किया है कि वह भारत पर काट्सा (काउंटरिंग अमेरिकाज एडवर्सरीज थ्रू सैंक्शंस ऐक्ट) को लगाएगा कि नहीं. अमेरिका के इस प्रतिबंध के लगाने से भारत की सामरिक और आर्थिक शक्ति प्रभावित होगी.

रूस के साथ हुई एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की डील के तहत भारत को अक्टूबर 2020 से डिलिवरी शुरू हो जाएगी. भारत ने रूस के साथ 5 एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम्स की डील की है. रूस की ओर से अक्टूबर 2020 से अप्रैल 2023 तक इनकी डिलिवरी कर दी जाएगी. इस समय एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम को विश्व में सबसे बेहतरीन माना जाता है और इसे पाकिस्तान और चीन से लगती सीमा के अलावा दिल्ली जैसे बड़े शहरों के पास लगाया जाना प्रस्तावित है.

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Comments are closed.