राजस्थान के इस गरासिया जनजाति में शादी से पहले बच्चा होने पर ही कर सकते है शादी

1,734

भारत के अलग अलग हिस्सों में रहने वाली जनजातियों की कुछ परम्पराएं बहुत ही अमेज़िंग है ऐसी ही एक जनजाति है गरासिया जो की मुख्यतः राजस्थान और गुजरात के कुछ हिस्सो में निवास करती है इस ट्राइब के युवा पहले पसंद की लड़की के साथ लिव इन में रहते हैं.

बच्चे पैदा होने के बाद ही दोनों को शादी के बंधन में बंधने की अनुमति मिलती है यदि दोनों के लिव इन में रहने के बावजूद भी बच्चे नहीं हुए तो वे अलग अलग हो जाते हैं फिर किसी और के साथ लिव इन में रह बच्चे पैदा करने की कोशिश करते हैं.

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

loading...

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

लड़कियां आपसी सहमति लिव इन रिलेशन में

राजस्थान के उदयपुर सिरोही और पाली जिले में गरासिया जनजात रहती है इस जनजाति की अनोखी परंपरा आज के मॉडर्न सोसाइटी की लिव इन से मिलती जुलती है यहां जवान होने के बाद लड़के लड़कियां आपसी सहमति से एक दूसरे के साथ लिव इन में रहते हैं इसके बाद बच्चे पैदा हो जाने पर ये शादी करते हैं अधिकांश बार बच्चे पैदा होने के बाद परिवार की जिम्मेदारियों के चलते ये शादी को टालते रहते हैं.

कई बार 50 या इससे अधिक की उम्र में ये इस रिश्ते को अमली जामा पहनाते हैं हाल ही में एक 80 साल के बुजुर्ग पाबुरा ने अपनी 70 वर्षीय लिव-इन पार्टनर रुपली से शादी की है इस शादी में पाबुरा के पड़पोते तक बारात में शामिल हुए थे राजस्थान और गुजरात में इस समाज का दो दिन का विवाह मेला लगता है जिसमें टीनएजर एक दूसरे से मिलते हैं और भाग जाते हैं.

इस दौरान सामाजिक सहमति से लड़की वाले को कुछ पैसे लड़के वाले दे देते हैं हालांकि बच्चे पैदा होने के बाद वे अपनी सहूलियत से कभी भी शादी कर सकते हैं कई लोगों की शादी तो बूढ़े होने पर उनके बच्चे करवाते हैं इसके अलावा कई बार बच्चे अपने मां बाप के साथ मिलकर शादी करते हैं इतना ही नहीं दूल्हे के घरवाले शादी का खर्चा उठाते हैं और शादी भी दूल्हे के ही घर में होती है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.