मोदी सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती है अयोध्या मामले का निपटारा

1,339

पीएम नरेंद्र मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म कर ऐतिहासिक फैसला लिया। इस फैसले का पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने जमकर विरोध किया। पाकिस्तान ही नहीं, भारत में भी उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती, राहुल गांधी जैसे दिग्गज नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी सरकार के फैसले का विरोध किया। इसके बावजूद मोदी सरकार ने अनुच्छेद 370 खत्म कर इतिहास रच दिया। इसके पहले भी भारत मे तीन तलाक कानून बनाकर सरकार ने मुस्लिम महिलाओं को उनका हक दिया।

अयोध्या में राम मंदिर को लेकर बोले मुगल वंशज प्रिंस हबीबुद्दीन तूसी
अनुच्छेद 370 खत्म करने के बाद अब मोदी सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती है अयोध्या मामले का निपटारा करना। सालों से चले आ रहे इस मामले पर अब मुगल वंशज प्रिंस हबीबुद्दीन तूसी ने भी चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट राम जन्मभूमि की जमीन उन्हें सौंप दी। साथ ही उन्होंने यह दावा भी किया कि वहीं इस भूमि के असली हकदार हैं। क्योंकि वह पहले मुगल शासक बाबर के वंशज हैं, जिसने बाबरी मस्जिद बनवायी थी।

अगर अयोध्या में राम मंदिर बना तो…
मुगल वंशज ने दमदार ऐलान करते हुए कहा कि अगर अयोध्या में राम मंदिर बना तो वह उसके लिए सोने की ईंट देंगे। उन्होंने आगे कहा,”मैं लोगों की भावनाओं का सम्मान करता हूँ और यह मानता हूँ कि अयोध्या की उस जगह पर पहले राम मंदिर ही था। मैंने यह तय किया है कि मैं यह पूरी जमीन राम मंदिर के लिए दान कर दूंगा।”

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.