सोने का शौक है तो , यह कंपनी 8 घंटे सोने के 1 लाख दे रही है , जल्दी करें

932

बेंगलुरु की एक कंपनी अब आपको सोने के लिए एक लाख रुपये देगी। यह इतना अच्छा होगा कि आप 9 घंटे की नींद पूरी कर लेंगे और एक लाख रुपये भी कमा सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपका चयन होना जरूरी है। आइए जानते हैं इस अजीब ऑफर के बारे में …

दसवीं पास लोगों के लिए इस विभाग में मिल रही है बम्पर रेलवे नौकरियां
दिल्ली के इस बड़े हॉस्पिटल में निकली है जूनियर असिस्टेंट के पदों पर नौकरियां – अभी देखें
ITI, 8th, 10th युवाओं के लिये सुनहरा अवसर नवल शिप रिपेयर भर्तियाँ, जल्दी करें अभी देखें जानकारी 
ग्राहक डाक सेवा नौकरियां 2019: 10 वीं पास 3650 जीडीएस पदों के लिए करें ऑनलाइन

get paid for sleeping in bengaluru

कौन सी कंपनी दे रही है ऑफर

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु की ऑनलाइन फर्म वेकफिट ने यह पेशकश की है। ऑनलाइन स्लीप सॉल्यूशन फर्म ने अपने प्रोग्राम का नाम वेकफिट स्लीप इंटर्नशिप रखा है।

loading...

क्या शर्तें लागू होती हैं?

इस इंटर्नशिप के लिए कुछ ही लोगों का चयन किया जाएगा। यहां आपको कंपनी द्वारा दिए गए गद्दे पर सोना होगा। आपको रोज बताना होगा कि आपको नींद कैसे आई। अच्छी या बुरी।

get paid for sleeping in bengaluru

आप सोने के लिए पैसे क्यों दे रहे हैं?

कंपनी सोने के लिए कुछ लोगों की काउंसलिंग करेगी। उनके सोने के पैटर्न पर नज़र रखी जाएगी। इसके बाद, विशेषज्ञों को भी सलाह दी जाएगी। जो लोग सोने जाएंगे, उनकी नींद रिकॉर्ड की जाएगी। उनके सोने के तरीके पर ध्यान दिया जाएगा। विजेताओं को स्लीप ट्रैकर भी दिया जाएगा।

get paid for sleeping in bengaluru

जानिए आपको कब तक सोना है?

कंपनी का नियम है कि इस योजना में भाग लेने वाले चयनित लोगों को 100 दिनों के लिए हर दिन 9 घंटे सोना होगा। केवल वे ही जो अपनी नींद को हर चीज से ज्यादा महत्वपूर्ण मानते हैं, उन्हें ही चुना जाएगा।

न तो काम छोड़ना पड़ेगा और न ही अपना घर

अधिक काम और तनाव के कारण लोगों की नींद खराब हो रही है। इससे उनका स्वास्थ्य प्रभावित हो रहा है। इसलिए कंपनी ने इस इंटर्नशिप को लायी है। इसके लिए आपको अपना काम नहीं छोड़ना पड़ेगा, न ही अपना घर ।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.