जावेद अख्तर के बयान पर एक और बवाल, कहा- महिलाओं को एक से ज्यादा पति रखने का अधिकार दें!

0 492

जावेद अख्तर अपनी बात खुलकर कहने के लिए जाने जाते हैं। लेकिन कई बार ये बात उन्हें भारी भी पड़ जाती है। मानो उनके एक बयान ने एक बार फिर से जंग छेड़ दी हो. बता दें कि यह विवादित बयान कॉमन सिविल कोड की बात करते हुए दिया गया था.

कॉमन सिविल कोड का मतलब समझाया

एक इंटरव्यू में कॉमन सिविल कोड का मतलब समझाते हुए जावेद अख्तर ने कहा कि मेरे एक बेटा और एक बेटी है. अगर मुझे अपनी संपत्ति देनी है तो मैं इसे दो बराबर भागों में दूंगा। जावेद अख्तर ने आगे कहा कि कॉमन सिविल कोड न केवल सभी समुदायों के लिए बल्कि पुरुषों और महिलाओं के लिए भी एक कानून है।

स्त्रियों को भी एक से अधिक पति रखने का अधिकार मिले!

जावेद अख्तर जहां अपनी बातों से लोगों का दिल जीत लेते हैं वहीं दूसरी तरफ कई बार उनकी बातें लोगों के दिलों को छलनी कर जाती हैं. इस दौरान जावेद ने कहा कि अगर पुरुषों को एक से अधिक पत्नियां रखने का अधिकार दिया गया है तो महिलाओं को भी एक से अधिक पति रखने का अधिकार मिलना चाहिए. अगर नहीं तो यह समानता कैसे हुई। इस बयान के बाद कुछ लोगों ने जावेद अख्तर के खिलाफ आवाज उठाने की भी बात कही है.

सोशल मीडिया पर जबरदस्त बवाल

जावेद के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर बवाल मच गया है. लेखक के इस बयान पर कई लोगों ने कड़ी आपत्ति जताते हुए माफी की भी मांग की है. जावेद अख्तर के इस बयान को सैफ अब्बास नकवी ने शर्मनाक बताया है. हालांकि कई लोग जावेद अख्तर की बातों का समर्थन करते भी दिखे.

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply