आप भी नहीं जानते होंगे कोरोनावायरस की ये 3 स्टेज , किस तरह से शरीर में फैलता है इन्फेक्शन

0 867

वैज्ञानिकों ने रोगियों में कोरोनोवायरस  की प्रगति के तीन अलग-अलग चरणों का के बारें में बताया है , चिकित्सा पेशेवरों से संक्रमण के इन चरणों के अनुरूप उनके लक्षणों के आधार पर रोगियों के लिए उपचार किया जायेगा । वैज्ञानिकों के अनुसार, इटली में फ्लोरेंस विश्वविद्यालय के , COVID -19 संक्रमण के तीन अलग-अलग चरण, लक्षणों  के साथ उन लोगों में देखे गए हैं जो इस घातक बीमारी के लिए सकारात्मक परीक्षण करते हैं।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

शोधकर्ताओं ने कहा कि SARS-CoV-2, उपन्यास ( नॉवल ) कोरोनोवायरस जो COVID-19 का कारण बनता है,

संक्रमित व्यक्ति के नाक या मुंह से खिसकने वाली बूंदों के माध्यम से संक्रमित होता है,

जब उन्हें खांसी, छींक या कुछ मामलों में होती है।

You might not even know these 3 stages of coronavirus, click to know कोरोनोवायरस

पहला  संक्रमण चरण (चरण 1) के दौरान,( Phase 1 )

उन्होंने कहा कि वायरस शरीर के अंदर गुणा करता है और  लोग  इन हल्के लक्षणों को  सामान्य सर्दी या फ्लू समझकर कंफ्यूज हो सकते है

वैज्ञानिकों के अनुसार दूसरा चरण,

फुफ्फुसीय चरण pulmonary  यानि लंग्स फेज (चरण 2) है,  जिसमे हमारा इम्यून सिस्टम धीरे धीरे कमज़ोर होता जाता है

, और प्राथमिक रूप से श्वसन लक्षण जैसे कि लगातार खांसी, सांस की तकलीफ और कम ऑक्सीजन का स्तर होता है।

रक्त के थक्के ( clots ) के साथ समस्याएं – विशेष रूप से रक्त के थक्कों के गठन के साथ – चरण 2 में प्रमुख हो सकता है,

You might not even know these 3 stages of coronavirus, click to know कोरोनोवायरस

तीसरा चरण

हाइपरइन्फ्लेमेटरी चरण (hyperinflammatory phase )तब होता है जब हमारे  हृदय, गुर्दे और अन्य अंगों पे इसका असर होता है । इस चरण में,

अध्ययन ने उल्लेख किया कि एक ‘साइटोकिन तूफान’ – जहां शरीर अपने स्वयं के टिश्यू ( tissue )पर हमला करता है ।

जबकि बीमारी के तीन चरणों में ओवरलैप हो सकता है,

वैज्ञानिकों ने कहा कि मरीजों को व्यक्तिगत उपचार के लिए प्रत्येक चरण को पहचानना महत्वपूर्ण है।

COVID-19 के साथ लोगों के इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली कई दवाओं के साथ अभी भी सुरक्षा और प्रभावशीलता के लिए जांच की जा रही है

, शोधकर्ताओं ने कहा कि इन प्रयोगात्मक उपचारों का मूल्यांकन उस विशिष्ट रोग चरण के आधार पर किया जाना चाहिए

और उसके साथ यह भी पता होना चाहिए की शरीर के अंदर क्या हो रहा है

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply