संसार का सबसे बड़ा जानवरों मेला सोनपुर

0 94
गंगा और गंडक के मिलन स्थान पर सोन के उद्गम पर बसा है भोजपुरिया सोनपूर । इसके आगे मग़ही इलाका का शुरूआत हो जाता है । हर साल कातिक महिना (नवम्बर) में ये मेला लगता है ये संसार के सबसे बडा मेला है, एशिया के सबसे बडा जानवर का मेला है । हालांकि नए समाचार के अनुसार यह एशिया का ही नही बल्कि दुनिया के सबसे बडा जानवर का मेला हो गया है । कातिक के पुर्णिमा के दिन ग़ंगा स्नान के साथ यह मेला के शुरूआत होता है ये 21 दिन ले आधिकारिक स्तर पर चलता है । लेकिन मेला के खतम होते-होते पूरा महीना लग जाता है । दुनिया के कोने-कोने से लोग मेला देखेने आते है ।
मेला के साथ-साथ भग़वान हरिहरनाथ के विख्यात मन्दिर यहाँ गंगा और गंडक के मिलन स्थान पर है । ये माना जाता है कि इस जगह जहाँ भगवान् विष्णु अपने भक्त हाथी हारा के प्राण की रक्षा मगरमच्छ से की थी, तबसे यहाँ के भगवान् श्रीहरि आ हरिहरनाथ कहा जाता है । कातिक के पुर्णिमा के दिन ग़ंगा स्नान के महत्व भी 100 गो गाय के दान के बराबर माना गया है ! जानवर के मेला होने के बावजूद ये सिर्फ जानवर का मेला नहीं है । ये भोजपुरिया समाज के मेला है जहाँ भोजपुरी सभ्यता आ संस्कृति के जाने पहचाने का मौका मिलता है । भोजपुरिया पकवान से लेकर भोजपुरिया कला तक के दर्शन यहाँ हो जाते  है !
Related Posts
style="display:block" data-ad-format="autorelaxed" data-ad-client="ca-pub-6110862339322149" data-ad-slot="7031622182">
loading...

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.