रोचक बातें : केकड़े ढोल की आवाजें निकालते हैं

305

केकड़े की पूंछ आमतौर पर बहुत छोटी होती है। केकड़े का कम पेट छाती के नीचे छिपा हुआ होता है। केकड़े की 6793 प्रजातियाँ होती है। केकड़े सारी दुनिया के महासागरों में पाए जाते हैं। केकड़ो का आकार अलग-अलग होता है। मटर केकड़ा जापानी केकड़े से केवल कुछ ही मिलिमीटर भिन्न होता है। केकड़े जटिल व्यवहार पैटर्न के साथ सक्रिय जानवर होते हैं। केकड़े अपनी संडसी को लहराते हुए ढोल की आवाज़ निकलते हैं।

केकड़ों का स्वभाव दूसरे केकड़े के प्रति आक्रमक होता है और महिला केकड़े को प्राप्त करने के लिए पुरूष केकड़े आपस में लड़ने से भी पीछे नहीं हटते। इतना ही नहीं चट्टानी गुफाओं में बेहतरीन छेद पाने के लिए भी केकड़े एक दूसरे से लड़ते है। केकड़े ओमनीवोर होते है जो ज़्यादातर मोलस्क्स, कीड़े अन्य क्रस्टेशियंस, कवक और जीवाणु खाना खाते है।

केकड़े को अलग अलग तरीकों से तैयार करके पूरी दुनिया में बतौर पकवान परोसा जाता है। कुछ केकड़ो को पूरे रूप में खाया जाता है और कई केकड़ो के सिर्फ पंजे और पैर ही खाए जाते है। केकड़ो का इस्तेमाल सूप में भी किया जाता है। ज़िंदा केकड़ो को अक्सर उबलते पानी में पकाया जाता है।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.