सेहत और सौंदर्य के लिए पर्याप्त पानी पीना ज़रूरी

0 25
जल ही जीवन है, क्योंकि मानव शरीर की बनावट में 55 से 75 फीसदी पानी है। पतले लोगों के शरीर में ज्यादा पानी होता है, क्योंकि चर्बी (फैट) की तुलना में मांसपेशियों (मसल्स) में पानी धारण करने की क्षमता ज्यादा होती है। इसका मतलब साफ है कि सेहत और सौंदर्य के लिए पर्याप्त पानी की अहमियत बेहद ज्यादा है।
क्यों बार-बार पीते रहें पानी?
यह देखना जरूरी है कि हमारा शरीर कितना पानी दिन भर में खर्च करता है। दिन भर सांस लेने-छोडऩे में ही हम 2-3 कप पानी खर्च कर देते हैं। पसीने के अलावा, पेशाब के रूप में निकला पानी शरीर की गंदगी साफ करता है।
हालांकि, एक दिन में 8 गिलास पानी (1.9 लीटर) को पर्याप्त बताया गया है। आहार विशेषज्ञ डॉ. इशी खोसला के मुताबिक, ‘चुस्त-दुरुस्त रहने केलिए कम कैलोरी के तरल पदार्थों का ज्यादासे ज्यादा सेवन शरीर के लिए अच्छा होताहै। इस लिहाज से देखा जाए तो पानी से बेहतर विकल्प शायद ही कोई और है।
मौजूदा जीवनशैली में अक्सर लोग पानी पीने पर पूरा ध्यान नहीं देते। शरीर में पानी कम होने से सिर दर्द,मांसपेशियों की कमजोरी, थकान और सोचने की शक्ति कम होने जैसी स्थितियां बनने लगती हैं और कई लोगों को काम के दौरान इस बात का आभास ही नहीं हो पाता। अगर शरीर से करीब 10 फीसदी तरल पदार्थ कम हो जाएं तो डिहाइड्रेशन का खतरा रहता है।यही वजह है कि किडनी को दुरुस्त रखने के लिए भी बार-बार पानी पीना जरूरी है।यहां यह सवाल उठना लाजिमी है कि पानी की मात्रा कितनी होनी चाहिए। यह हर इंसान की शारीरिक रचना, काम के तौर तरीकों और वातावरण से तय होता है।
रिसर्चके बाद अमेरिकन इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिसिनने एक दिन में पुरुषों के लिए तीन लीटर और महिलाओं के लिए 2.2 लीटर पानी के सेवन की सिफारिश की है।
त्वचा की चमक, चेहरे की दमक विशेषज्ञों का मानना है कि पर्याप्त पानी पीकर आप अपनी त्वचा को चमका सकते हैं और इससे आपका चेहरा भी दमकता हुआ सा नजर आने लगता है। अपने शोध वाटरसिक्रेट: दि सेल्यूलर ब्रेकथ्रू में यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के प्रो. हॉवर्ड मुराद न लिखा है कि पर्याप्त पानी पीकर आप 10 साल ज्यादा जवान और सुंदर दिख सकते हैं और इसे खुद महसूस भी कर सकते हैं। पानी त्वचा का प्राकृतिक पोषक है। यह झुर्रियों सेनिजात दिलाता है और बेजान त्वचा में चमक पैदा कर देता है।
खाने के बाद छोटी आंत में पहुंचे भोजन से विटामिन, प्रोटीन, मिनरल्स, कार्बोहाइड्रेट और फैट्स जैसे पदार्थों के अलग होने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। तब पानी छोटी आंत में लुब्रिकेंट का काम करता है। यानी, नई रिसर्च पाचन में पानी को मददगार ठहराती है। पानी गर्म या ठंडा आहार विशेषज्ञों का कहना है कि सेहत के नजरिए से पानी गर्म पीना चाहिए या ठंडा यह मौसम पर निर्भर करता है, लेकिन इतना तय है कि वजन कम करने से इनका सीधा संबंध नहीं है। गर्म पानी भरे पेट का अहसास जरूर दिलाता है, लेकिन यह कैलोरी बर्न नहीं करता।
शरीर डिटॉक्स करने में गुनगुना पानी मददगार है,लेकिन सामान्य पानी भी प्यास बुझाने के साथ शरीर की सफाई में मददगार होता है। गर्म या गुनगुना पानी भूख को एक हद तक ही कम कर सकता है। लेकिन, वजन कम करने केलिए बार-बार पानी पीते रहना ही समाधान नहीं है। स्वस्थ रहने के लिए डाइटीशियन चेतावनी देते हैं कि पर्याप्त मात्रा में पोषक आहार भी जरूरी हैं।
भोजन से पहले पानी आम तौर पर माना जाता है कि भोजन से पहले पानी पी लें तो भूख कम लगती है।अमेरिकन केमिकल सोसाइटी की एक स्टडीके मुताबिक, भोजन से पहले पर्याह्रश्वत पानी पी लेने से 75 से 90 कम कैलोरी का सेवनहोता है। इससे तीन महीने में करीब 2.25किलोग्राम वजन कम होने के नतीजे दिखाई दिए हैं। हालांकि, भोजन के दौरान पानी पीना चाहिए या नहीं इस बात को लेकर अक्सर मतभेद रहते हैं। इस पर कई शोध भी किए गए हैं।
Related Posts
Sab Kuch Gyan से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे…
loading...

loading...