केवल पुष्कर में क्यों होती है भगवान ब्रह्मा की पूजा! जाने इसके पीछे की छुपी सच्चाई ?

1,852

इस सृष्टि की रचना ब्रह्मा द्वारा की गई संसार के प्रत्येक जीव का निर्माण ब्रह्मा ने ही किया है, तो मित्रों आपने कभी सोचा है, कि इस सृष्टि के रचयिता ब्रह्मा जिसकी पद इतनी ऊंची है, इसकी पूजा क्यों नहीं की जाती है एक बार ब्रह्मा जी को सृष्टि के कल्याण के लिए धरती पर एक यज्ञ संपन्न करना था। यज्ञ के लिए स्थान का चुनाव करने के लिए उन्होंने अपनी बाहों से निकले एक कमल को धरती पर भेजा, वह कमल राजस्थान के पुष्कर में गिरा।

DSSSB में निकली फायरमेन पदों पर 10वीं  पास लोगो के लिए दिल्ली में नौकरी – Apply Online for 706 Posts

दसवीं पास वालों के लिए CISF कांस्टेबल और ट्रेडमैन में आई बम्पर भर्ती – देखें पूरी जानकारी

बिहार पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2019 – 11880 कांस्टेबल पदों के लिए 12th पास  ऑनलाइन आवेदन करें

12th पास दिल्ली पुलिस नौकरियां 2019: 554 हेड कांस्टेबल पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन करें

ये है इसकी सच्चाई :

loading...

Why worship of Lord Brahma only in Pushkar! Know the hidden truth behind it

इस पुष्पक के यहां गिरने से यहां एक तालाब का निर्माण हुआ। और ब्रह्मा जी ने यही स्थान यज्ञ के लिए चुना परंतु यज्ञ के लिए ब्रह्मा जी के पत्नी सावित्री समय पर नहीं पहुंच पाई, इस यज्ञ को संपन्न करने के लिए एक स्त्री की आवश्यकता थी, यज्ञ का समय निकला जा रहा था परंतु सावित्री नहीं पहुंची यदि यज्ञ समय पर नहीं संपन्न होता तो इस यज्ञ का लाभ नहीं मिल सकता था।

Why worship of Lord Brahma only in Pushkar! Know the hidden truth behind it

इसलिए ब्रह्मा जी ने एक स्थानीय ग्वाला से विवाह कर लिया और यज्ञ में बैठ गए। यज्ञ आरंभ होने में थोड़ी देर पश्चात ही जब सावित्री पहुंची तो उन्होंने अपने स्थान पर किसी दूसरे स्त्री को देख क्रोधित हो उठे। और ब्रह्मा जी को श्राप दिया कि इस संपूर्ण पृथ्वी पर कहीं भी तुम्हारी पूजा नहीं होगी और कोई भी व्यक्ति तुम्हें पूजा के समय याद नहीं करेगा।

Why worship of Lord Brahma only in Pushkar! Know the hidden truth behind it

सावित्री को इतने क्रोधित में देख सभी देवता डर गए और सब ने सावित्री से विनती की, कि वह अपना श्राप वापस ले लीजिए। तब सावित्री ने क्रोध शांत हो जाने के बाद कहा कि जिस स्थान पर आपने यज्ञ किया है, केवल इसी स्थान पर आपका मंदिर होगा इसी कारण केवल पुष्कर में ही ब्रह्मा जी को पूजा जाता है।

Why worship of Lord Brahma only in Pushkar! Know the hidden truth behind it

मान्यता है, कि क्रोध शांत होने के पश्चात देवी सावित्री पास ही स्थित एक पहाड़ी पर जाकर तपस्या में लीन हो गई थी, और आज भी वहां उपस्थित है और अपने भक्तों का कल्याण करती है। ब्रह्मा जी का पुष्कर में स्थित यह मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। और अजमेर आने वाले सभी हिंदू पुष्कर में ब्रह्मा मंदिर और वहां स्थित तालाब के दर्शन करने अवश्य आते हैं।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.