इस मंदिर में पति पत्नी के एक साथ पूजा करने पर क्यों है रोक ?

294

हिमाचल प्रदेश – किंवदन्ती के अनुसार भोलेनाथ ने अपने दोनों पुत्रों श्री गणेश और कार्तिकेय को पूर्ण ब्रह्मांड की परिक्रमा करने को कहा था। कार्तिकेय तो अपने वाहन मयूर पर ब्रह्मांड का चक्कर लगाने हेतु चले गए परंतु गणेश जी ने अपने पिता शिव और माता पार्वती की परिक्रमा की और कहा कि उनके चरणों में ही पूरा ब्रह्मांड है। कार्तिकेय के वापिस आने तक गणेश जी का विवाह हो गया था।

Why is there a ban on husband and wife worshiping together in this temple

loading...

जिसके कारण वे रुष्ट हो गए थे और उन्होंने प्रण लिया की वह विवाह नहीं करेंगे। श्राईकोटी में दरवाजे पर आज भी गणेश जी सपत्नीक स्थापित हैं। कार्तिकेय जी के प्रण से माता पार्वती गुस्सा हो गई थी और उन्होंने कहा था कि जो दंपति इक्ट्ठे इस मंदिर में एक साथ दर्शन करेगा उसका एक महीने में तलाक हो जायगा !

Why is there a ban on husband and wife worshiping together in this temple

भले ही आपको लगता है कि हमारा देश हर रोज तरक्की कर रहा हो लेकिन कई ऐसे गांव है जो अंधविश्वास में रुढि़वादी परंपराओं का बोझ उठाए हुए हैं। परंपराओं के नाम पर कुछ भी कर गुजरने को ये लोग तैयार रहते है। यहां परंपराओं के नाम पर जोड़ों से कई चीजें कराई जाती है जिनको देखकर आप भी शायद दंग रह जाएंगे।हिमाचल प्रदेश में कुल्लू में पीणी गांव है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि यहां साल के पांच दिन तक पति-पत्नी एक दूसरे से हंसी-मजाक भी नहीं कर सकते हैं। बिल्कुल अनजानों की तरह एक दूसरे से व्यवहार करते हैं।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.