महाभारत में दुर्योधन क्यों था सबसे अलग, जाने दुर्योधन की तीन बड़ी सच्चाई

1,627

दुर्योधन महाभारत का एक शक्तिशाली और पराक्रमी योद्धा था दुर्योधन के कारण ही कौरव और पांडवों में महाभारत जैसा खतरनाक युद्ध हुआ था। आज हम आपको दुर्योधन के तीन ऐसे सच बताएंगे जिनको आप नहीं जानते हैं।

१. ज्ञान की कमी

Why Duryodhana was the most different in Mahabharata, the three big truths of Duryodhana

महाभारत काव्य के अनुसार दुर्योधन में ज्ञान की कमी थी वह अपने मामा शकुनि के कहने के अनुसार चलता था जो भी बात करनी होती थी और सिर्फ शकुनि की बात पर ही विश्वास करता था। इसके कारण दुर्योधन राज्य सम्बंधित फैसले नहीं ले पाता था। इसके परिणाम स्वरूप उसे महाभारत का युद्ध करना पड़ा था।

२. सर्वश्रेष्ठ गदाधारी

Why Duryodhana was the most different in Mahabharata, the three big truths of Duryodhana

दुर्योधन महाभारत का सर्वश्रेष्ठ गदाधारी योद्धा था दुर्योधन ने गदा युद्ध की कला श्री कृष्ण के भाई बलराम से सीखी थी। बलराम ने दुर्योधन को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ गदाधर का खिताब दिया था। दुर्योधन ने गदा युद्ध के माध्यम से कई शक्तिशाली योद्धाओं को महाभारत में हराया था।

३. वज्र का शरीर

Why Duryodhana was the most different in Mahabharata, the three big truths of Duryodhana

दुर्योधन का शरीर उसकी माता के वरदान के कारण वज्र का बन गया था। जब दुर्योधन का शरीर वज्र का बनने जा रहा था तो भगवान श्री कृष्ण के कारण अर्जुन का थोड़ा सा शरीर वज्र का नहीं बन पाया था और इसका सबसे बड़ा लाभ भीम को मिला था।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.