थायराइड की समस्या में क्या करें परहेज थायराइड की बीमारी से बचाव और नियंत्रण

0 36
थायराइड भारतीय महिलाओं में सबसे आम स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है। आंकड़ों के अनुसार, दुनिया भर में 2-3% लोगों को थायराइड की समस्या (थायरॉइड डिसऑर्डर प्रिवेंशन एंड कंट्रोल) हो सकती है, जबकि महिलाओं को पुरुषों की तुलना में 10 गुना अधिक जोखिम होता है ।थायराइड के दो मुख्य प्रकार होते हैं – पहली स्थिति जिसमें शरीर में थायराइड हार्मोन का उत्पादन काफी कम हो जाता है हाइपोथायरायडिज्म और दूसरा जिसमें उत्पादन सामान्य से अधिक होने लगता है । इन दोनों स्थितियों से गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं ।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार जीवनशैली और खान-पान संबंधी विकारों से थायराइड विकारों का खतरा बढ़ जाता है, इसलिए सभी लोगों को इन समस्याओं से दूर रहने की सलाह दी जाती है। जिन लोगों को थायराइड की बीमारी हो गई है उन्हें अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। थायराइड की समस्या वाले लोगों को इससे बचने के लिए कौन सी बातें पता होनी चाहिए ?

आइए जानते हैं थायराइड विकारों के बारे में:

थायराइड विकार वाले लोगों को गौट्रोजन का सेवन कम करना चाहिए। गोइट्रोजन एक प्रकार का यौगिक है जो थायरॉयड ग्रंथि के सामान्य कामकाज में हस्तक्षेप कर सकता है। गोइट्रोजन कई खाद्य पदार्थों में पाया जाता है, जैसे सोया उत्पाद, सब्जियां जैसे ब्रोकोली और फूलगोभी। इनका सेवन कम से कम करने की कोशिश करें।

मिठाई से बचें:

मिठाई या ऐसे खाद्य पदार्थ जिनमें चीनी की मात्रा अधिक होती है, न केवल मधुमेह के खतरे को बढ़ाते हैं, बल्कि थायराइड की समस्याओं के जोखिम को भी बढ़ाते हैं। विशेष रूप से, अतिरिक्त शर्करा वाली चीजों में एस्पार्टम (न्यूट्रास्युटिकल्स) और सुक्रोज (स्प्लेंडा) होते हैं, जिन्हें थायराइड उत्तेजक हार्मोन (TSH) के उच्च स्तर से जुड़ा माना जाता है। टीएसएच का ऊंचा स्तर हाइपोथायरायडिज्म का संकेतक माना जाता है।

कैफीन के सेवन के नुकसान:

कैफीनयुक्त खाद्य पदार्थ कम खाएं, और थायराइड विकार वाले लोगों को ध्यान देने की जरूरत है।
जिन लोगों को थायराइड विकारों के लिए निर्धारित दवाएं दी जाती हैं, उनका सेवन अधिक हानिकारक हो सकता है।
यह थायराइड दवा अवशोषण को प्रभावित कर सकता है।
इन पदार्थों के सेवन से विकार की जटिलताओं के विकास का खतरा बढ़ जाता है।

शराब के सेवन के नुकसान:

शराब का सेवन शरीर के लिए कई तरह से हानिकारक होता है।
यह थायरॉयड ग्रंथि के कार्य के साथ-साथ हार्मोन बनाने की उसकी क्षमता को भी प्रभावित कर सकता है
थायराइड की समस्या वाले लोगों को शराब के सेवन से बचना चाहिए।

(अस्वीकरण : हम इस लेख में निर्धारित किसी भी कानून, प्रक्रिया और दावों का समर्थन नहीं करते हैं।
उन्हें केवल सलाह के रूप में लिया जाना चाहिए। ऐसे किसी भी उपचार/दवा/आहार को लागू करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है।)

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply