कैलिफोर्निया में इस जगह पाई जाती हैं वाटरप्रूफ मक्खियां, देखकर आप भी हो जाओगे हैरान

443

आपने कैलिफोर्निया के मोनो लेक के बारे में तो सुना ही होगा अगर नहीं सुना हैं तो चलो मैं ही बता देता हूँ यहाँ के महासागर का पानी तीन गुना अधिक खारा हैं| इन महासागरों के झीलों का पानी खारा होने का मुख्य कारण यहाँ पाए जाने वाले तत्व हैं, जैसे बोरोक्स तथा सोडियम कार्बोनेट लेकिन यह पानी जीव जंतुओं के लिए बहुत हानिकारक हैं| यहाँ का पानी भले की जलीय जंतुओं के लिए हानिकारक हैं लेकिन मक्खियों के लिये यह क्षारीय तत्व वरदान हैं|

loading...

आप भी सोच रहे होंगे आखिर मक्खियों के लिये कैसा वरदान चलिए हम आपको बताते हैं जब भी मक्खियां झील में डुबकी लगाती है तो एक पानी का बुलबुला उठता है जिसके कारण इनके चारों ओर सुरक्षा आवरण बन जाता हैं और उन्हें ऑक्सीजन भी उपलब्ध कराता है। ये मक्खियां पानी में 25 फीट गहराई तक जा सकती है लेकिन इनके पंखों पर कोई असर नहीं होता है इसलिये इन्हें स्कूबा डाइविंग मक्खियां भी कहते हैं।

वैज्ञानिकों ने इनकी क्षमता का परीक्षण करने के लिये मक्खियों को टंगस्टन रॉड से बांधकर उन्हें पानी में छोड़ दिया गया। एक मोटर के द्वारा उन्हें टैंक में ऊपर नीचे ले जाया गया। वैज्ञानिकों ने पाया की मक्खियों के शरीर पर बाल होते हैं जिस पर मोम की परत चढ़ी होती है यही परत इन्हें वाटरप्रूफ बनाती है। वैज्ञानिकों का मानना हैं की आने वाले समय में यह स्कूबा डाइव मक्खियां एक बेहतर वाटरप्रूफ तकनीक को जन्म देगी, जिसका उपयोग हर क्षेत्र किया जा सकेगा|

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.