वायरल मैसेज: केंद्र से 30 हजार का अनुदान, क्या आपको मिला यह ‘वायरल’ मैसेज; जानिए सटीक तथ्य

0 304
नई दिल्ली: सोशल मीडिया से (सामाजिक मीडिया) हाल के दिनों में धोखाधड़ी की घटनाओं में नाटकीय रूप से वृद्धि हुई है। फर्जी सूचनाओं के आधार पर वायरल संदेशों के जरिए जनता से करोड़ों रुपये के गबन की घटनाएं सामने आई हैं। इस समय केंद्रीय वित्त मंत्रालय की ओर से 30,000 रुपये के अनुदान का संदेश सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। कठिन वित्तीय स्थिति में देश के नागरिकों की सहायता के लिए केंद्र वित्तीय सहायता प्रदान करता है (वित्त सहायता) के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने एक अनुदान अभियान चलाया था। इस बीच, केंद्र सरकार द्वारा नियंत्रित मीडिया आउटलेट पीआईबी ने एक वायरल संदेश जारी किया है।पीआईबी वायरल चेक) दावे की पुष्टि हो गई है और जनता से फर्जी संदेश के माध्यम से प्राप्त किसी भी लिंक पर क्लिक न करने का आग्रह किया गया है।

वायरल मैसेज क्या है?

सोशल मीडिया पर लिंक वाला मैसेज वायरल हो रहा है। वित्त मंत्रालय के माध्यम से 30,628 करोड़ रुपये का दावा किया गया है। लिंक पर क्लिक करने की अपील की। इस बीच पीआईबी ने जनता से इस तरह के लिंक पर क्लिक कर वित्तीय धोखाधड़ी से बचने की अपील की है।

अफवाहों से सावधान

PIB ने फैक्ट चेक के जरिए दावे की सत्यता की पुष्टि की है। यह स्पष्ट किया गया है कि वायरल संदेश पूरी तरह से झूठा है। केंद्र सरकार के वित्त विभाग की ऐसा करने की कोई योजना नहीं है। सोशल मीडिया यूजर्स से अपील है कि इस तरह की अफवाहों से सावधान रहें।

संदेशों से सावधान

पीआईबी फैक्ट चेक के बाद यह मैसेज पूरी तरह से झूठा बताया जा रहा है। किसी को भी लिंक पर क्लिक करके निजी बैंकिंग संबंधी जानकारी का खुलासा नहीं करना चाहिए। बैंक खाते का विवरण प्रदान करने से बड़ी वित्तीय धोखाधड़ी हो सकती है।

कैसे करें फैक्ट चेक?

अगर आपको ऐसे ही मैसेज मिले हैं, तो आप ऐसे मैसेज की सच्चाई का पता लगाने के लिए फैक्ट चेक कर सकते हैं। आपके पास पीआईबी के जरिए फैक्ट चेक का विकल्प है। इसके लिए आपको आधिकारिक लिंक पर क्लिक करना होगा। आप व्हाट्सएप नंबर +918799711259 या ईमेल [email protected] पर भी तथ्य खोज सकते हैं

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply