Vertical City: सऊदी अरब में बनेगा पहला ‘वर्टिकल सिटी’, 170 किमी लंबा और 90 लाख लोग

163

Vertical City: ऐसा दुनिया में पहली बार होने जा रहा है, जहां शहर विस्तार क्षैतिज नहीं बल्कि लंबवत है, (खड़ा) आकाश की ओर। इस शहर की लंबाई 170 किमी होगी। तो चौड़ाई 200 मीटर होगी। इस शहर में एक छोर से दूसरे छोर तक जाने में महज 20 मिनट का समय लगेगा। इस स्थान पर हाई स्पीड ट्रेन भी उपलब्ध है (स्पीड ट्रेन) चलने वाले हैं। इस शहर की ऊंचाई 500 मीटर यानि आधा किलोमीटर होगी. इसमें घरों के ऊपर मकान होंगे। यानी शहर का विस्तार क्षैतिज के बजाय लंबवत होगा। सब कुछ योजना के मुताबिक रहा तो 2025 तक शहर बनकर तैयार हो जाएगा। यह हमारी पारंपरिक शहर संरचनाओं और विचारों को बाधित करेगा। जनसंख्या वृद्धि को देखते हुए ऐसे शहर भविष्य में अधिक महत्वपूर्ण और अग्रणी बन सकते हैं। इस क्षेत्र के विशेषज्ञ दावा कर रहे हैं कि उपनिवेश स्थापित करने के लिए चंद्रमा और मंगल पर जाने के बजाय, अगर इस ग्रह पर ऐसे खड़े शहर विकसित किए जाते हैं, तो इससे निश्चित रूप से भविष्य में आबादी और अगली पीढ़ी को लाभ होगा।

Vertical City: शहर का नाम होगा लाइन

Vertical City: इस शहर का नाम भी तय कर लिया गया है। शहर को द लाइन के नाम से जाना जाएगा। यह दुनिया का पहला वर्टिकल सिटी होगा। इस शहर में ऑफिस, घर, स्कूल, पार्क सभी वर्टिकल होंगे। इस परियोजना का संकेत पहली बार जनवरी 2021 में सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने दिया था। इस शहर को बनाने में 500 अरब डॉलर यानी 39.95 लाख करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

शीशे से ढक जाएगा शहर

द लाइन का शहर आधा किलोमीटर ऊंची कांच की दीवारों से ढका होगा। शहर शत-प्रतिशत नवीकरणीय ऊर्जा से चलेगा। सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा का उपयोग किया जाएगा। इस शहर में प्रदूषण नहीं होगा। तो कोई कार्बन उत्सर्जन नहीं होगा। इस शहर में 170 किमी की दूरी के भीतर 9 मिलियन लोगों को ठहराया जाएगा।

शहर से सटा हाईटेक जोन

अपनी पारंपरिक इमारतों के साथ विशाल शहर की तुलना में, शहर का लंबवत विस्तार हुआ है। संक्षेप में एक खड़ा शहर होगा। इस शहर में कोई सड़क नहीं होगी, कोई कार नहीं होगी, इसलिए कोई उत्सर्जन नहीं होगा। इस शहर के पास एक हाईटेक जोन भी विकसित किया जाएगा। इसका कुल क्षेत्रफल 26,500 वर्ग किलोमीटर होगा। इससे इस शहर को पूरा सहयोग मिलेगा।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.