भारत के हर आँगन में होने वाली तुलसी करती है इन पांच बिमारियों का जड़ से सफाया

1,072

हम हर दिन तुलसी की पूजा करते हैं। तुलसी पूजा महोत्सव हर साल उत्तरा दशमी के अवसर पर आयोजित किया जाता है। तुलसी न केवल आध्यात्मिक रूप से बल्कि हमारे दैनिक जीवन में भी बहुत महत्वपूर्ण है। 5 प्रकार की तुलसी होती है 1) श्याम तुलसी, 2) राम तुलसी, 3) श्वेत/विष्णु तुलसी, 4) वन तुलसी, 5) नींबू तुलसी ।

बिहार पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2019 – 11880 कांस्टेबल पदों के लिए 12th पास  ऑनलाइन आवेदन करें

12th पास दिल्ली पुलिस नौकरियां 2019: 554 हेड कांस्टेबल पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन करें

DSSSB में निकली फायरमेन पदों पर 10वीं  पास लोगो के लिए दिल्ली में नौकरी – Apply Online for 706 Posts

दसवीं पास वालों के लिए CISF कांस्टेबल और ट्रेडमैन में आई बम्पर भर्ती – देखें पूरी जानकारी

Tulsi occurring in every courtyard of India eliminates these five diseases from the root

यह पूरे विश्व की सबसे प्रभावकारी और बेहतरीन दवा है। एक एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, एंटी-फ्लू, एंटी-बायोटिक, एंटी-इफ्लेमेन्ट्री व एंटी–डिजीज की तह कार्य करने लगती है।  तुलसी एक ऐसा पौधा है जो अधिक ऑक्सीजन छोड़ता है और घर के आसपास यार्ड में तुलसी उगाना बेहतर होता है।

1. गले का दर्द

Tulsi occurring in every courtyard of India eliminates these five diseases from the root

हर दिन 8 से 10 तुलसी की पंखुड़ियों का अधिक सेवन करने से शरीर के स्वास्थ्य में सुधार होगा और अगर आपके गले में दर्द हो रहा हो तो गले के दर्द से राहत के लिए 1 बड़ा चम्मच तुलसी के रस में 1 चम्मच शहद मिलाएं।

2. खुजली और दाने में दें आराम

Tulsi occurring in every courtyard of India eliminates these five diseases from the root

तुलसी के पत्तों को हल्दी के रस के साथ अच्छी तरह से मिला लें और ये लेप  त्वचा पर खुजली और दाने जैसे त्वचा के रोगों को ठीक करने के लिए लगाया जाता है।

3. कान का दर्द

Tulsi occurring in every courtyard of India eliminates these five diseases from the root

और इसका एक फायदा और है कि तुलसी का रस कान के दर्द को कम करता है।

4. पाचन शक्ति बढ़ाएं

Tulsi occurring in every courtyard of India eliminates these five diseases from the root

तुलसी के रस का पाचन शक्ति बढ़ाता है। इस दिन में एक बार अवश्य पीयें।

5. बुखार और जुकाम करे दूर

Tulsi occurring in every courtyard of India eliminates these five diseases from the root

तुलसी के रस, काली मिर्च और शहद को मिलकर  दिन में तीन बार खाने से बुखार और जुकाम दूर होता है।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

गजब के सुन्दर Clock Wallpaper डाउनलोड करें अभी यहाँ क्लिक करें
loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.