आज 1 अक्टूबर से देशभर में बदल गए हैं ये 10 नियम, पढ़ें पूरी खबर

1,127

नई दिल्ली : केंद्र सरकार 1 अक्टूबर से कुछ नियमों में बदलाव करने जा रही है।  अक्टूबर महीने की शुरुआत के साथ ही बहुत सारे बड़े बदलाव भी लागू हुए हैं। 1 अक्टूबर से ही कई नियम बदल गए हैं, जिसके बाद कुछ चीजों को लेकर राहत मिलेगी तो कुछ से लोगों को थोड़ी दिक्कत भी हो सकती है। 1 अक्टूबर से जिन नियमों में बदलाव हुआ है, उनका असर पूरे देश पर पड़ेगा। भले ही कोई शख्स नौकरी करता हो या फिर अपना खुद का बिजनेस करता हो, लेकिन इन नियमों में होने वाले बदलाव का असर उस पर पड़ना तय है। आइए जानते हैं 1 अक्टूबर से क्या-क्या बदल गया है। इनमें मोटर वाहन नियम, उज्ज्वला परियोजनाएं, स्वास्थ्य बीमा और क्रेडिट और डेबिट कार्ड नियम शामिल हैं। बदलावों से अवगत होना जरूरी है।

1) ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन पंजीकरण कार्ड

अब से, आपको वाहन पंजीकरण कार्ड (RC) और ड्राइविंग लाइसेंस की हार्ड कॉपी अपने साथ रखने की आवश्यकता नहीं होगी। केवल इन दो दस्तावेजों की वैध सॉफ्ट कॉपी को सड़क पर चलाया जा सकता है। केंद्रीय सड़क परिवहन और राष्ट्रीय सड़क मंत्रालय ने मोटर वाहन अधिनियम, 1989 में कई ऐसे बदलाव किए हैं। ड्राइवरों और यात्रियों की सुविधा के लिए, वाहन रखरखाव, ड्राइविंग लाइसेंस और ई-चालान के लिए सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग किया गया है। ड्राइवर अब अपने सभी दस्तावेजों को केंद्र सरकार के डीजी-लॉकर या एम-ट्रांसपोर्ट सिस्टम में स्टोर कर सकते हैं।

2) मोबाइल फोन रास्ता दिखाएगा

केंद्रीय सड़क परिवहन और राष्ट्रीय सड़क मंत्रालय द्वारा 1989 के मोटर वाहन अधिनियम के संशोधन के परिणामस्वरूप, अब से, मार्गदर्शन स्वयं के मोबाइल फोन के माध्यम से आसानी से उपलब्ध होगा। इसके लिए ड्राइवर का दिमाग परेशान नहीं होगा।

3) कोई और अधिक मुफ्त एलपीजी कनेक्शन नहीं

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई) के तहत मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन लेने की सुविधा आज खत्म हो गई है। केंद्र सरकार ने पहले सितंबर के अंत तक मुफ्त एलपीजी कनेक्शन सुविधा को स्थगित कर दिया था।

4) विदेशी मुद्रा लेनदेन पर 5% कर लागू

यदि आप विदेश यात्रा पैकेज खरीदने के लिए विदेश में पैसा भेजना चाहते हैं, तो आपको 5% टैक्स (TCS) देना होगा। इसके अलावा, TCS 6 लाख से अधिक के किसी भी विदेशी वित्तीय लेनदेन के लिए अब से लागू होगा।

5) मिठाइयों पर एक्सपायरी डेट

loading...

खुदरा मिठाई के मामले में, अब से, केंद्र को ‘बेस्ट बिफोर एप्रिसिएशन’ देना होगा। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा और मानक संगठन (FSSAI) ने कन्फेक्शनरों को 1 अक्टूबर से नियमों का पालन करने का निर्देश दिया है।

6) स्वास्थ्य बीमा में नए नियम

कोविद -19 ने स्वास्थ्य बीमा सुरक्षा की नीति में बदलाव किया है। इस स्थिति में बेहतर गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी की कीमत बढ़ने वाली है। नई स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के तहत 17 स्थायी बीमारियों को जोड़ा जा रहा है।

6) टीवी सेट्स की कीमत बढ़ रही है

अगर आप 1 अक्टूबर से ओपन सेल पैनल खरीदना चाहते हैं, तो आपको 5% इंपोर्ट ड्यूटी देनी होगी। ‘स्व-विश्वसनीय भारत’ परियोजना के तहत घरेलू बाजार को बढ़ावा देने के लिए उत्सुक सरकार, भारत में बने खुले सेल पैनल का उत्पादन बढ़ाना चाहती है, जिससे विदेशी वस्तुओं के आयात की दर में कमी आएगी।

6) डेबिट-क्रेडिट कार्ड पर रिजर्व बैंक के नए नियम

रिजर्व बैंक 1 अक्टूबर से डेबिट और क्रेडिट कार्ड के संग्रह के लिए नए नियम ला रहा है। नए नियमों के तहत, कार्ड उपयोगकर्ता अब अंतरराष्ट्रीय, ऑनलाइन और टचलेस लेन-देन के लिए सेवाओं को उठा या छोड़ सकेंगे।

9) अन्य तेलों को सरसों के तेल के साथ मिलाने पर प्रतिबंध

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा और मानक संगठन (FSSAI) ने सरसों के तेल के साथ किसी अन्य खाद्य तेल के मिश्रण पर प्रतिबंध लगा दिया है। एजेंसी ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के खाद्य सुरक्षा आयुक्तों को लिखे पत्र में कहा कि यह नियम 1 अक्टूबर से प्रभावी होगा।

10) नई टीसीएस कर नीति

आयकर विभाग ने टीसीएस कर लागू करने के लिए नियम प्रकाशित किए हैं। ई-कॉमर्स कंपनी इस प्रणाली में उत्पाद के विक्रय मूल्य में 1 प्रतिशत TCS जोड़ेगी। केंद्र सरकार ने 1971 के आयकर अधिनियम में एक नया खंड 194 भी जोड़ा है। जिसके कारण 1 अक्टूबर से नई कर संग्रह प्रणाली शुरू की जाएगी।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.