बरसों से पेटदर्द झेल रही थी यह औरत, ऑपरेशन से जो निकला उससे देखकर डॉक्टर भी रह गए हैरान

2,298

आपने पेट में पथरी हो जाने के कई किस्से सुने होंगे लेकिन जिस घटना के बारे में मैं बताने जा रहा हूँ वो इन सब चीजों से बिलकुल अलग हैं| हर शहर में डॉक्टर्स के पास आये दिन एक ऐसा केस जरूर आता है जो डॉक्टरों को भी हैरान हैरान कर देने वाला होता हैं| ऐसा ही कुछ 50 साल की एक महिला के गाल ब्लेडर में मक्के के दाने के साइज की 140 पथरी निकली|

This woman was suffering from stomach pain for years, the doctors were also surprised to see what came out of the operation

loading...

यह घटना मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले थांदला तहसील गांव का है जहाँ रहने वाली 50 साल की हुमाबाई लंबे समय से पेट दर्द से परेशान थी| महिला को इलाज के लिए मेघनगर के जीवन ज्योति हॉस्पिटल ले जाया गया| वहां के सर्जन डॉ. मारकुस डामोर ने महिला का सोनोग्राफी चेकअप के लिए भेजा| सोनोग्राफी का जब रिजल्ट आया तो पता चला की गाल ब्लेडर में एक से अधिक पथरी पाए गए जिसके चलते डॉक्टरों ने महिला का ऑपरेशन करने का निश्चय किया|

ऑपरेशन के बाद जब डॉक्टरों ने गिनती की तो 140 पथरियाँ निकली फिलहाल, ऑपरेशन के बाद हुमाबाई पूरी तरह से ठीक है| अगर आपको नहीं पता की गाल ब्लेडर क्या होता तो यह लीवर से चिपकी एक थैली के समान संरचना होती है जिसका साइज 6-7 इंच के करीब रहता है| इसमें थैली में पथरी कम होती है और होती भी है तो उसका आकार बहुत कम रहता है और डॉक्टरों का मानना हैं की इतनी ज्यादा मात्रा में पथरी निकलना संभव नहीं है|

This woman was suffering from stomach pain for years, the doctors were also surprised to see what came out of the operation

डॉक्टर्स के मुताबिक, उन्होंने पथरी के कई ऑपरेशन किए लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है जब इतनी बड़ी संख्या में गाल ब्लेडर से पथरी निकली. इस केस के मामले में मैंने बाहर के स्पेशलिस्ट से बात की थी| उन्होंने केस को ऑल इंडिया डॉक्टर जनरल में भेजने को कहा है|

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.