भारत में मिलती है सैलरी सबसे कम, जानिए दुनिया में सबसे ज्यादा सैलरी किन देशों में मिलती है?

1,036

विश्व में बहुत से देश ऐसे हैं जहाँ प्रति व्यक्ति सालाना आय लाखों में है और वो भी हर हफ्ते में निश्चित घंटे काम करने के. भारत में प्रतिदिन काम करने के लिए आठ घंटे का समय निर्धारित है लेकिन वो कंडीशन भी सिर्फ सरकारी कर्मचारियों तक ही सीमित है. आम आदमी या मजदूर वर्ग की हालत तो बहुत ही खराब है. उन्हें 16 से 18 घंटे तक काम करने के बाद भी मुश्किल से इतनी ही पगार मिलती है की घर-खर्च भी आसानी से ना चल पाए.

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

बेल्जियम में हफ्ते में केवल 40 घंटे ही काम करना होता है लेकिन सैलरी 26 हज़ार प्रति हफ्ता से भी ज्यादा है.

this countries gives high salaries than India , भारत1. लग्जमबर्ग में भी हफ्ते में केवल 40 घंटे ही काम करना होता है लेकिन सैलरी 29 हज़ार प्रति हफ्ता के लगभग है.

2.इसी तरह न्यूजीलैंड में भी हफ्ते में केवल 40 घंटे ही काम करना होता है

लेकिन सैलरी 23 हज़ार प्रति हफ्ता से भी ज्यादा है.

loading...
  1. नीदरलैंड में हफ्ते में केवल 48 घंटे ही काम करना होता है लेकिन सैलरी 27 हज़ार प्रति हफ्ता है.

4..आस्ट्रेलिया में काम के किये हफ्ते में केवल 38 घंटे ही निर्धारित किये गए है

लेकिन सैलरी 27 हज़ार प्रति हफ्ता से भी ज्यादा है.

5.. जबकि आयरलैंड में हफ्ते में केवल 46 घंटे ही काम करना होता है

6.बेल्जियम में हफ्ते में केवल 40 घंटे ही काम करना होता है

लेकिन सैलरी 26 हज़ार प्रति हफ्ता से भी ज्यादा है

लेकिन सैलरी 23 हज़ार प्रति हफ्ता से भी ज्यादा है.

अब भारतीय काम के समयानुसार आप खुद जोड़ कर देख लो।

आमतौर पर हर भारत का व्यक्ति  करीब 12 घंटे काम रोजाना करता है

तो देख लो आपको किस देश में जाना चाहिए।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.