पेट की समस्याओं का संपूर्ण इलाज करते हैं ये आयुर्वेदिक उपाय 

586

आयुर्वेदिक उपाय : आज के आपाधापी के दौर में अधिकांश लोग उदर रोग से पीड़ित है I वैसे देखा जाए तो अन्य जितने भी रोग पैदा होते हैं वै इसी के दुष्प्रभाव से होते है I अतः प्रत्येक मनुष्य को उदर रोग से बचकर रहना चाहिएI इन उदर रोगों में अपचय और बदहजमी, कब्ज, गैस, पेट दर्द, पित्त विकार, अफारा, अमल पित, अतिसार, संग्रहणी, पेचिश आदि शामिल है I

अजीर्ण को अपच अथवा बदहजमी भी कहते हैं I इससे पेट में गैस का प्रकोप होने लगता है I कब्ज होने से वायु बनने लगती है I पेट में कांटे से चुभने लगते हैं I हवा पास नहीं होती खट्टी-खट्टी डकारे आने लगती है I जी मिचलाने लगता है I

अपच होने से कितनी ही दैहिक और मानसिक कारण होते हैं I बहुत ज्यादा पानी पीना, समय समय पर भोजन न करना, बहुत ज्यादा ठूस-ठूस कर भोजन करना, मल मूत्र का वेग रोकना, रात में देर तक जागना, चाय – सिगरट या चरस – सुल्फा आदि का नशा करना, दिन में सोना आदि दैहिक कारण है I मानसिक कारणों में ईर्ष्या, भय, क्रोध, लोभ, शोक, चिंता, हीन भावना का बहुत ज्यादा होना आदि आता है I इनसे दूर रहकर भी अर्जीण कब्ज़ और वायु विकार से बचा जा सकता है I इसके घरेलू उपचार नीचे दी गई वीडियो में शामिल है I

सौंठ ( सूखी अदरक), काली मिर्च और पीपली को बराबर योग में किस कर घर में रख ले I आयुर्वेद में से ‘त्रिकुट योग’ कहते हैं I सुबह शाम इसकी फंकी लेने से कैसा भी कब्ज क्यों ना हो, दूर हो जाता है I

भोजन के उपरांत भुना हुआ जीरा थोड़ा-सा मुंह में डाल ले I इससे पाचन ठीक होता है और अपच नहीं होता I साथ ही पेट का अफारा भी नष्ट हो जाता है I

कब्ज तोड़ने के लिए रात को सोने से पहले दूध के साथ इसबगोल की भूसी लें I

बदहजमी, जी मिचलाना, खट्टी डकारे आना, पेट फूलना आदि में टमाटर का सूप अत्यंत गुणकारी है I
करेले की सब्जी खाने से पेट के रोग में लाभ होता है I

loading...

8 दिन तक निराहार गुलाब के चार ताजा फूल खाने से कैसा भी कब्ज क्यों ना हो दूर हो जाता है I

एक प्याला गरम पानी में एक नींबू रोजाना कुछ दिनों तक पीने से अपच कब्ज में दूर हो जाता है I

रोज प्रातः काल निराहार रात भर तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने से पुराने से पुराना कब्ज भी दूर हो जाता है I
10 ग्राम त्रिफला रोज रात को गर्म दूध के साथ लेने से कब्ज़ कभी नहीं होता I

हिंग्वाष्टक चूर्ण को गर्म जल के साथ लेने से अपच नहीं होता I

पका हुआ पपीता खाने से अपच नष्ट होता है I इन फलों का भोन करने के बाद खाना चाहिए I यह भोजन को जल्दी पचते हैं I

यदि चावल अधिक खाने से बदहजमी हो जाती है तो ताजे नारियल की गिरी खा लेनी चाहिए अथवा पानी मिला थोड़ा सा दूध पी लेना चाहिए I

यदि गेहूं की रोटी खाने से अपच हो जाए तो सौंठ और काला नमक मिलाकर पानी से फंकी लें I

मिठाई खाने से अपच होने पर पीपल के चूर्ण में नमक मिलाकर पानी के साथ लें I

घी अथवा किसी चिकनाई से हुई अपच नींबू के रस में नमक और काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर पीने से ठीक हो जाता है I केवल सेंधा नमक ही गर्म जल में लेने पर चिकनाई का अपच दूर हो जाता है I

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.