महिलाओं के लिए मोदी सरकार की ये 6 योजना, घर पर रहकर उठाएं फायदा

821

नई दिल्ली: केंद्र सरकार की कई योजनाएं केवल महिलाओं के लिए हैं। मोदी सरकार ने महिला सशक्तीकरण की दिशा में कई कदम उठाए हैं। जिसका लाभ देश की बड़ी संख्या में महिलाओं को मिल रहा है। सरकार का उद्देश्य महिलाओं को पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ना है। हर क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ रही है। आइए जानते हैं कि महिलाओं के लिए मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाएं क्या हैं

1. प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना

महिलाओं के लिए मोदी सरकार की सबसे सफल योजना है। यह योजना 1 मई, 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया में शुरू की गई थी। इस योजना के तहत, आर्थिक रूप से कमजोर गृहिणियों को खाना पकाने के गैस सिलेंडर उपलब्ध कराए जाते हैं। इस योजना से अब तक देश में 8.3 करोड़ परिवार लाभान्वित हुए हैं। 1 फरवरी, 2021 को, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में घोषणा की कि उज्ज्वला योजना के लाभों को अन्य 1 करोड़ लाभार्थियों तक बढ़ाया जाएगा।

इस योजना के तहत, केंद्र सरकार तेल कंपनियों को प्रति कनेक्शन 1,600 रुपये की सब्सिडी देती है। यह सब्सिडी सिलेंडर के लिए सुरक्षा और फिटिंग शुल्क के लिए है। उनके नाम से BPL कार्ड वाले परिवार इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना का उद्देश्य महिलाओं को लकड़ी या कोयले के धुएं से मुक्त करना है।

2. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 जनवरी, 2015 को हरियाणा के पानीपत में  बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ ’योजना की शुरुआत की। इस योजना का उद्देश्य लड़कियों के लिंगानुपात को कम करना और महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देना है। यह योजना भारत के विभिन्न हिस्सों में लागू है। यह योजना उन महिलाओं की मदद करती है जो घरेलू हिंसा की शिकार हैं। अगर कोई महिला इस तरह की हिंसा का शिकार होती है, तो उसे पुलिस, कानून और चिकित्सा सेवाएं मुहैया कराई जाती हैं। पीड़ित टोल फ्री नंबर 181 पर कॉल करके मदद मांग सकता है।

loading...

3. सुरक्षित मातृत्व आश्वासन सुमन योजना 

सुरक्षित मातृत्व आश्वासन सुमन योजना के तहत, 100 प्रतिशत महिलाओं को अस्पताल या प्रशिक्षित नर्सों की देखरेख में दिया जाता है। ताकि प्रसव के दौरान मां और उसके बच्चे के स्वास्थ्य का अच्छी तरह से ध्यान रखा जा सके। इसमें मुफ्त स्वास्थ्य देखभाल शामिल है। इस योजना का उद्देश्य मातृ और नवजात मृत्यु दर को रोकना है।

4. पीएम धनलक्ष्मी योजना

देश में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए पीएम धनलक्ष्मी योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत, महिलाओं को रोजगार शुरू करने के लिए सरकार द्वारा 5 लाख रुपये तक का ऋण दिया जाता है। इस ऋण पर ब्याज सरकार द्वारा भुगतान किया जाता है। इसका मतलब है कि ब्याज मुक्त ऋण प्रदान किए जाते हैं। इसका लाभ देश की गरीब और मध्यम वर्ग की महिलाओं को मिलता है।

5. नि: शुल्क शिलाई मशीन योजना

मुफ्त शिलाई मशीन योजना केंद्र सरकार द्वारा उन महिलाओं के लिए चलाई जाती है जो सिलाई में रुचि रखती हैं। इस योजना से देश के ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं को लाभ मिल सकता है। भारत सरकार प्रत्येक राज्य में 50,000 से अधिक महिलाओं को मुफ्त सिलाई मशीन प्रदान करती है। केवल 20 और 40 वर्ष की आयु के बीच की महिलाएं इस योजना के तहत आवेदन कर सकती हैं।

6. सुकन्या समृद्धि योजना

सुकन्या समृद्धि योजना इस योजना का शुभारंभ मोदी सरकार ने 22 जनवरी 2015 को किया था। यह योजना 10 साल से कम उम्र की लड़कियों की उच्च शिक्षा और शादी के लिए है। यह लड़कियों के सुरक्षित भविष्य के लिए बचत योजना है। आप किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस में जाकर 10 साल से कम उम्र की बेटी के लिए खाता खोल सकते हैं। योजना के पूरा होने पर, वह सभी धन प्राप्त करेगी, जिनके नाम पर खाता खोला गया है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.